शुक्रवार, 31 मार्च 2023

IPL उद्घाटन समारोह/आज का मैच/मैच का समय/टीम/खिलाड़ी

 IPL/31st मार्च 2023/गुजरात टाइटंस और चेन्नई सुपर किंग्स

आज क्रिकेट का महासंग्राम भारतीय प्रीमियम लीग (IPL) की धमाकेदार शुरुवात नरेंद्र मोदी स्टेडियम अहमदाबाद में सांय 7.30 बजे होगी।  उद्घाटन मैच गुजरात टाइटंस और चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के बीच खेला जाएगा।

दिनांक 31st मार्च 2023

स्थान -नरेंद्र मोदी स्टेडियम अहमदाबाद
मैच -गुजरात टाइटंस और चेन्नई सुपर किंग्स
कैपेटिंस हार्दिक पांडे v/s एमएस धोनी
क्रिकेट का महासंग्राम आज वर्तमान चैंपियन गुजरात टाइटंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला जाएगा।

धोनी के खेलने पर सस्पेंस

मैच से पहले सीएसके के लिए चिंताजनक खबर हैं की अभ्यास के दौरान एमएस धोनी के बांए घुटने में चोट लगी थी इसके कारण वो 30th मार्च को प्रैक्टिस के लिए स्टैटिडम आए लेकिन बलेबाजी नही की।
यदि धोनी इस मैच में नही खेलते हैं तो बेन स्टोक्स या रविंद्र जडेजा को कप्तानी की जिम्मेदारी दी जा सकती हैं। CSK  के CEO काशी विश्वनाथ को पूरी उम्मीद हैं की धोनी पहला मुकाबला खेलेंगे।


दोनो टीमों में कांटे की टक्कर की संभावना

CSK टीम

    जब CSK की टीम मैदान पर उतरेगी तो सबकी नजरें धोनी पर होगी। टीम की बैटिंग का जिम्मा डेवोन कोनवे के साथ ऋतुराज गायकवाड,मोइन अली , अंबाती रायुडू,बेन स्टोक्स,ऑल राउंडर शिवम दुबे के साथ धोनी के कंधो पर होगी । सर रविंद्र जडेजा बॉल और बैट से टीम को मजबूती देने का काम करेंगे। गेंदबाजी में दीपक चाहर ,बेन स्टोक्स,शिवम दुबे और राजवर्धन हंगारगेकर की तेज गेंदबाजी की कमान होगी और स्पिन में जडेजा और मोइन का साथ देंगे महिष तिक्ष्णा।राजवर्धन इस मैच से IPL में अपना डेब्यू कर सकते हैं।

गुजरात टाइटंस

   वर्तमान चैंपियन गुजरात अपने पहले ही संस्करण में खिताब जीत कर उत्साह से ओत प्रोत होगी। टीम को युवा सुभमन गिल और रिद्धिमान साहा की ओपनिंग जोड़ी से धमाकेदार शुरुवात की अपेक्षा होगी। टीम में केन विलियमसन,डेविड मिलर और मैथ्यू वेड का अनुभव मिलेगा जो आवश्यकता के अनुसार मैच का रुख बदलने के काम आएगा।मिडिल ऑर्डर में आल राउंडर विजय शंकर ,राहुल तेवतिया और कैप्टन हार्दिक पांडे पर तेजी से रन बनाने की जिम्मेदारी होगी। बॉलिंग डिपार्टमेंट में स्पिनर राशिद खान और मोहम्मद शमी के हाथो में होगी।
संभवत ओपनिंग मैच में एक जबर्दस्त भिडंत देखने को मिलेगी।

गुरुवार, 30 मार्च 2023

कैलाश मानसरोवर यात्रा को लेकर सुखद समाचार

 मानारोवर की यात्रा अब मात्र 7 दिन में

  भगवान शिव का निवास स्थान कैलाश पर्वत के दर्शन कोन श्रद्धालु नही करना चाहेगा। भारतीय लोगो के लिए हमेशा से ही मानसरोवर यात्रा चुनौतीपूर्ण रहीं हैं। चीन नेपाल रास्ते से कैलाश दर्शन जटिलताओं और डर से भरा होता हैं।भारत सरकार के परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के अनुसार 2023 में सड़क निर्माण पूर्ण हो जायेगा अभी तक निर्माण कार्य 85%तक पूरा हो चुका हैं।

मानसरोवर का भारतीय मार्ग

 भारत सरकार के विदेश मंत्रालय द्वारा मानसरोवर यात्रा के लिए 3 रास्ते निर्धारित हैं।लिपुलेख दर्रा जो उत्तराखंड से गुजरता है। द्वितीय मार्ग हैं नाथुला दर्रा जो सिक्किम से निकलता हैं और तीसरा रास्ता हैं जो काठमांडू से होकर जाता है ।और ये तीनो रास्ते ही जोखिम से भरे हुए हैं जिसमे 25 से 30 दिन का वक्त लगता हैं।


नया मार्ग अब मात्र 7 दिन में पूर्ण होगा।

परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के अनुसार सब कुछ ठीक रहा तो दिसंबर 2023 में भारत के श्रद्धालु उतराखंड के पिथौरगढ़ से 25 दिन की यात्रा मात्र 7 दिन में सुगमता से पूर्ण कर पाएंगे।


मानसरोवर के नए रूट की सम्पूर्ण जानकारी 


 

जहां लिपुलेख से कैलाश मानसरोवर पहुंचने में यात्रियों को बर्फीले मौसम का सामना करते हुए 19500 फीट की ऊंचाई पर करीब 90 किलोमीटर की ट्रैकिंग करनी पड़ती हैं। अब इन यात्रियों को उत्तराखंड के पिथौरगढ़ से मनारोवर के लिए पिथौरगढ़ से तवाघाट तक 107.6 किलोमीटर तथा तवाघाट से घटियाबाढ़ तक 19.5 किलोमीटर सिंगल लेने हैं जिसे BRO द्वारा डबल रोड में बदला जा रहा हैं। और तीसरा घटियाबगढ से लिपुलेख दर्रे यानी चीन सीमा तक हैं जो करीब 80 किलोमीटर तक पैदल यात्रा द्वारा ही तय किया जा सकता हैं। Read More...

बुधवार, 29 मार्च 2023

चन्द्र प्रकाश जोशी जीवन परिचय /Chandra Prakash Joshi Biography in Hindi/धन्यवाद ज्ञापन

 चन्द्र प्रकाश जोशी जीवन परिचय /Chandra Prakash Joshi Biography in Hindi

धन्यवाद ज्ञापन...Watch Video..

चंद्रप्रकाश जोशी राजस्थान से भाजपा के नयी पीढ़ी के कर्मठ कार्यकर्त्ता के तौर पर अपनी पहचान रखते हैं। राजस्थान में इस वर्ष अंत तक चुनाव होने है और बीजेपी के लिए राजस्थान जितने से बड़ा कोई मुद्दा नहीं हैं।  इसलिए पार्टी आपसी गुटबाजी और मतभेद से दूर एक साफ़ और ईमानदार और बेदाग छवि के कार्यकर्ता के हाथ में बीजेपी की कमान दे कर सबको चौंका दिया हैं। क्योंकि बड़ी बात यह है कि सीपी जोशी किसी भी खेमे में नहीं रहें है।

       अब सीपी जोशी पर राजस्थान बीजेपी में एकता बनाये रखने के साथ साथ इस बार राज्य में पार्टी के लिए जीत को सुनिश्चित करना ही एक  महत्वपूर्ण दायित्व होगा।

      सी पी  जोशी  चित्तौड़गढ़ से दो बार के सांसद और राजस्थान बीजेपी के नव नियुक्त  प्रदेश अध्यक्ष श्री चंद्रप्रकाश जोशी की जीवनी (Chandra Prakash Joshi Biography in Hindi) के बारें में जानकारी देने वाले है। 

 नाम चंद्र प्रकाश जोशी
उम्र 47 साल
जन्म तारीख 04 नवंबर 1975
जन्म स्थान भदसौरा, चित्तौड़गढ़, राजस्थान
शिक्षा बी.कॉम

कॉलेज

मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय, उदयपुर

वर्तमान पद

राजस्थान बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और चित्तौड़गढ़ सांसद

व्यवसाय

राजनेता

राजनीतिक दल

भारतीय जनता पार्टी

वैवाहिक स्थिति

विवाहित

पिता का नाम

स्वर्गीय श्री रामचंद्र जोशी

माता का नाम

श्रीमती सुशीला जोशी

पत्नी का नाम

श्रीमती ज्योत्सना जोशी

बच्चे

एक बेटा और एक बेटी

स्थाई पता

61, सोमनगर-II, मधुबन सेंथी, चित्तौड़गढ़, राजस्थान

वर्तमान पता

3, फिरोजशाह रोड, नयी दिल्ली

फोन नंबर

09414111371, (011) 23388124

ईमेल

Cpjoshi.mp@sansad.nic.in, cpjoshicor@gmail.com

Assets

Rs.1,97,25,115

Liabilities

Rs.100000

criminal record

0

चंद्रप्रकाश जोशी का राजनीतिक करियर


     सीपी जोशी के सक्रिय राजनीतिक जीवन की शुरुआत 1995 में छात्र संघ के उपाध्यक्ष बनने के साथ हुआ था. बाद में उन्होंने जिला परिषद् के सदस्य के तौर पर कार्य किया और क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. इससे वह पंचायत समिति के सदस्य भी रह चुके है. इसके बाद वह स्टेट वर्किंग कमिटी के मेंबर और फिर भाजपा से जुड़कर पार्टी में सक्रिय हो गए. उन्होंने पार्टी में राज्य उपाध्यक्ष, भारतीय जनता युवा मोर्चा, जिला उपाध्यक्ष, जिला महासचिव, जिला अध्यक्ष, जिला मंत्री जैसे कई पद पर आसीन हुए.


   सीपी जोशी पहली बार 2014 में राजस्थान के चित्तौड़गढ़ से सांसद चुने गए थे. दूसरी बार 2019 में भी उन्हें अपनी सीट से सफलता मिली. लेकिन यहाँ महत्वपूर्ण बात यह है कि उनकी जीत साधारण जीत नहीं थी. 2014 में उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गिरिजा व्यास से 3 लाख 16 हजार 857 वोट से जीत का रिकॉर्ड अपने नाम किया था और आश्चर्य की बात है कि उन्होंने 2019 में अपने ही पिछले रिकॉर्ड को तोड़ते हुए अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस के गोपालसिंह शेखावत ईडवा को 5 लाख 76 हजार 247 वोटो से पराजित किया. इस प्रकार उन्होंने राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में जीत का लगातार रिकॉर्ड बनाया.

मोदी का ऐतिहासिक भाषण।

 बीजेपी कार्यालय का उद्घाटन समारोह।

दिल्ली बीजेपी कार्यालय का उद्घाटन समारोह

    आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में बीजेपी कार्यालय का उद्घाटन समारोह में 2024 का धरातल तैयार कर दिया और चुनावो का बिगुल बजा दिया। पीएम ने निर्माण कार्य में लगे लोगों से भी बात की। इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और वरिष्ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद थे। यहां पहुंचने पर पीएम मोदी ने पूजा-अर्चना की। इस दौरान जेपी नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री जी का पार्टी के प्रति प्यार, लगाव, समर्पण...यह हम सभी कार्यकर्ताओं के लिए सीखने वाली बात है। ये हम सभी को अपने जीवन-शैली में उतारना और पार्टी के प्रति समर्पित रहना...ये हमें उनसे संस्कार मिला है।

मोदी के भाषण के मुख्य अंश।


*यह बीजेपी कार्यालय का नही हमारे सपनों का विस्तार हैं। हमारा कार्यकर्ता इसकी आत्मा हैं।


*दो लोकसभा सीटों से शुरू हुआ सफर 303 तक पहुंच गया हैं।


*बीजेपी युवाओं को 25% नेतृत्व दे रही हैं। महिला इंपावरमेंट में विश्वास रखने वालीं पार्टी हैं बीजेपी।


*बीजेपी भारत ही नहीं दुनिया की सबसे बड़ी और विश्वसनीय पार्टी बनकर उभरी हैं।


*पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पास संवैधानिक संस्थाओं का मजबूत आधार है। इसलिए भारत को रोकने के लिए संवैधानिक संस्थाओं पर हमले हो रहे हैं।

"1984 में जो हुआ उसे देश कभी भूल नहीं सकता"

      उसके बाद जो चुनाव हुआ उसमे कांग्रेस को बड़ा बहुमत मिला लेकिन हमने  होंसला नही हारा और दो सीट से 2019 में 303 तक का सफर तय किया "

     BJP केवल चुनाव लड़ने और जीतने तक ही सीमित नहीं है बल्कि BJP एक व्यवस्था है,BJP एक विचार है,BJP एक संगठन है,BJP एक आंदोलन है। बीजेपी बदलाव की भी प्राणशक्ति है.

    हमें भाजपा को एक ऐसी संस्था के रूप विकसित करना है जिसके पास अगले 10 साल-50 साल तक लक्ष्य निर्धारित हो। इसके लिए 3 बातें जरूरी है-अध्ययन, आधुनिकता और विश्वभर से अच्छी बातों को आत्मसात करने की शक्ति"

      मोदी ने कहा की हमने चुनावी हार के लिए कभी दूसरों को दोष नहीं दिया... हमारे संस्थानों की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए जा रहे हैं। जो लोग भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, जब उनकी जांच एजेंसी कर रही है, तो एजेंसियों को निशाना बनाया जा रहा है


भ्रष्टाचार पर चोट से विपक्ष को दिक्कत

      उन्होंने कहा कि जब भाजपा आती है तब भ्रष्टाचार भागता है। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग (PMLA) के तहत कांग्रेस की सरकार (2004-2014) में 5000 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई। इसी एक्ट के तहत भाजपा ने पिछले 9 सालों में 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपए से अधिक संपत्ति जब्त की है।


PM मोदी ने कहा कि आज देश में लोग भ्रष्टाचार पर चोट से खुश हैं। देशवासी समझता है कि भ्रष्टाचार रुकेगा तभी देश आगे बढ़ेगा, लेकिन कुछ राजनीतिक दलों को इससे दिक्कत है। Read More...




मंगलवार, 28 मार्च 2023

IPL 2023 के नए नियम

 इंपैक्ट प्लेयर रूल

    इंडियन प्रीमियम लीग 2023 में कुछ नियमो में तब्दीली देखने को मिलेगी। सबसे महत्वपूर्ण नियम लागू हुआ हैं इंपैक्ट प्लेयर रूल।ये क्या हैं इसे समझते हैं।इस नियम के तहद आईपीएल मैच के बीच टीम प्लेइंग -11 में शामिल किसी एक खिलाड़ी को बेंच पर बैठे रिजर्व प्लेयर्स से बदला जा सकता हैं।टीमों को टॉस के बाद प्लेइंग -11 बतानी होगी। साथ में 4-4  रिजर्व खिलाड़ियों का नाम भी लिस्ट में देना होगा। और इन्ही 4 खिलाड़ियों में से किसी एक को इक्पैक्ट खिलाड़ी के तौर पर प्लेइंग 11 में किसी एक खिलाड़ी को बदला जा सकता हैं।इंपैक्ट प्लेयर से निश्चित ही टीमों में ऑलराउंडर पर निर्भरता कम होगी।इस नियम का इस्तेमाल दोनो पारियों में केवल एक बार ही किया जा सकेगा। और वो भी 14 ओवर से पहले पहले।इसमें बैटिंग और बॉलिंग कर चुके खिलाड़ी को भी रिप्लेस किया जा सकेगा। इंपैक्ट प्लेयर अपने को पूरे मैच में 4 ओवर बॉलिंग और पूरे ओवर बैटिंग करने का मौका मिलेगा।

कब कब इंपैक्ट प्लेयर काम में ले सकते हैं।

*यदि टीम 11 में से 4 प्लेयर विदेशी होंगें तो इंपैक्ट प्लेयर भारतीय ही होगा।

* जब कोई खिलाड़ी इंजर्ड हो जाए तब इंपैक्ट प्लेयर से रिप्लेस किया जा सकता हैं।

*जब टीम में बॉलर्स अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हो उस समय किसी एक इंपैक्ट प्लेयर को लिया जा सकता हैं .*ओवर समाप्त होने के बाद या विकेट गिरने के बाद या ब्रेक में ,स्ट्रेटेजिक टाइम आउट या पारी समाप्त होने पर ही इंपैक्ट प्लेयर को बुलाया जा सकता हैं। खेले के बीच में उसे रिप्लेस नही किया जा सकता। इंपैक्ट प्लेयर को बदलने के लिए फील्ड अंपायर को बताना होगा। वो अपने दोनो हाथो को हवा में क्रॉस का साइन बना कर इंपैक्ट प्लेयर को बदलने का इशारा देगा।

* चार रिजर्व खिलाड़ियों में से देशी या विदेशी प्लेयर्स कोई भी हो वो इंपैक्ट खिलाड़ी के तौर पर मैदान में उतर सकता हैं। देशी खिलाड़ी को विदेशी से या विदेशी खिलाड़ी को देशी खिलाड़ी से बदला जा सकता हैं।जो खिलाड़ी रिप्लेस होकर मैदान के बाहर जाने के बाद वो दुबारा मैच में बॉलिंग ,बैटिंग,कीपिंग या फील्डिंग के लिए नहीं आ सकता।इंपैक्ट प्लेयर्स में अब उसकी स्ट्रेंथ के अनुसार ही सेलेक्ट किया जा सकेगा। इससे ऑल राउंडर खिलाड़ी का इंपैक्ट कम होगा। टीमें अब टीमें स्पेशलिस्ट बैट्समैन से बैटिंग कराने के बाद उसे बॉलर से रिप्लेस कर देंगी। ऐसे ही पहले स्पेशलिस्ट बॉलर से बॉलिंग कराने के बाद बेहतरीन बैट्समैन को शामिल कर लेंगी।

वाइड और नो -बॉल के लिए DRS संभव

      डिसीजन रिव्यू सिस्टम (DRS) से पहले टीम केवल आउट और नॉटआउट दिए जाने पर DRS के नियम का प्रयोग करते थे इसमें अंपायर के निर्णय को चुनौती दी जाती थी उसके बाबा कप्तान DRS रिव्यू लेता हैं जिसमे निर्णय 3rd अंपायर के पास रेफर किया जाता हैं जो तकनीकी की सहायता से बारीकी से देखता हैं और सटीक निर्णय लिया जा सकता हैं।इसी प्रकार से IPL 2023 में वाइड और नो बॉल के लिए भी 3rd अंपायर का रुख किया जा सकेगा।वो निर्णय की समीक्षा कर के अंतिम निर्णय देगा।

                 डेड बॉल का नियम क्या ?

      जब बॉलर के द्वारा बॉल फेंकी जाती हैं। जैसे ही बॉलर बॉल को अपने हाथ से छोड़ देता हैं। उसके बाद बॉलर भी फील्डर में काउंट हो जाता हैं। उसके बाद बैट्समैन और फील्डर दोनो के बीच बॉल जाति हैं जब दोनो पक्ष यानी की बैट्समैन एंड फील्डर बॉल को खेलने के रूप में देखना बंद कर देते हैं तब बॉल को डेड मान लिया जाता हैं। गेंद डेड हुई या नहीं ये फैसला अंपायर के अधिकार क्षेत्र में आता हैं।

धीमी गेंदबाजी रेट पर पेनेल्टी का प्रावधान

      IPL -2023 में यदि बॉलिंग टीम निर्धारित समय में तय ओवर नही फेंकती तो उसे 30 गज के बाहर पांच के बजाय केवल चार खिलाड़ी से ही फील्डिंग करने की अनुमति दी जाती हैं।इसे स्लो ओवर रेट पैलेंटी कहा जाता हैं।


 

सोमवार, 27 मार्च 2023

राजस्थान भाजपा की कमान सीपी जोशी के हाथो में।

 मोदी, शाहा और नडा के एक तीर से कई निशाने

                                 

     राजस्थान बीजेपी के नए अध्यक्ष चंदप्रकाश जोशी ने आज पदग्रहण संभाला। नवरात्रों में आज राजस्थान बीजेपी के नए अध्यक्ष चित्तौड़गढ़ से सांसद सीपी जोशी ने राजस्थान भाजपा के नए अध्यक्ष पद के सम्मान समारोह में सभी नेताओ और कार्यकर्ताओं के बीच पदभार ग्रहण किया।इस अवसर पर राजस्थान भाजपा के वर्तमान अध्यक्ष सतीश पूनिया,राजेंद्र राठौड़,भाजपा महासचिव महेश जोशी ,अरुण सिंह सहित सभी सीनियर नेताओं ने स्वागत किया और अपन समर्थन सीपी जोशी को दिया।

       सीपी जोशी ने अपने संबोधन में कुछ बाते कही जो जनता को को समझने के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। कार्यकर्ताओं को कहा की आप मेरे जयकारे में नारे नही लगाए। में आपके जैसे एक सामान्य कार्यक्रता हूं। मुझे कुछ साथीयों ने कंधे पर उठाने को कहा लेकिन में आप के कंधे पर नही कंधे से कंधा लगाकर काम करेंगे। ये शब्द बताते हैं की भाजपा आलाकमान ने कैसे व्यक्ति को राजस्थान की कमान दी हैं। सीपी जोशी एक सामान्य किसान परिवार से संबंध रखते हैं और राजस्थान में नीचे स्तर से काम करके इस मुकाम तक आएं हैं। सीपी जोशी राजस्थान भाजपा के 14वे अध्यक्ष हैं। चित्तौड़गढ़ से 2014 और 2019 में लोकसभा के लिए मनोनीत हुए हैं। अपने छोटे से जीवन में वो भाजपा यूथ विंग के अध्यक्ष रह चुके हैं।भाजपा युवा मोर्चा के स्टेट प्रेसिडेंट भी रह कर कार्य कर चुके हैं।

       अपने सम्बोधन में  जोशी ने कार्यकर्ताओ का आह्वान किया की आज के बाद आने वाले 6 महीनो तक हमें कंधे से कन्धा मिलाकर कांग्रेस की नींद हराम कर देनी हैं।  हमें होर्डिंग्स लगनी हैं लेकिन उस पर सरकार के किये हुए कार्यों को जनता को दिखाना और बताना हैं।  शिक्षा,स्वास्थ ,सुरक्षा, धारा ३७०, गरीबो के लिए पक्के घर,घर-घर जल, राममंदिर से लेकर कैन्हया लाल हत्याकांड तक की बाते  जनता तक लेकर जानी हैं। 

मेवाड़ और ब्राह्मण समाज को साधने की कोशिश।

ये सही हैं की गुलाबचंद कटारिया को राज्यपाल बनाने के बाद मेवाड़ के एक कद्दावर नेता की कमी को पूरा करने का काम निश्चित सीपी जोशी करेंगे। साथ में भाजपा का कोर वोटर ब्राह्मण समाज को चुनावों से पहले ये सौगात देकर एक बड़ा दांव भाजपा में खेला हैं।

युवाओं को नेतृत्व

    नए अध्यक्ष सीपी जोशी भाजपा के यूथ विंग के अध्यक्ष रह चुके हैं वो युवा मोर्चा के स्टेट प्रेसिडेंट पद को सुशोभित कर चुके हैं। निश्चित इससे भाजपा को युवाओं में अपनी पकड़ को मजबूत करने में सहायता मिलेगी। 

       यह कहा जा सकता हैं की मोदी, शाहा और नडा की तिकड़ी ने राजस्थान में अपना वजीर मैदान में उतार दिया हैं। और अब बिसात बिछ चुकी हैं आने वाले विधानसभा चुनावों की और धरातल तैयार होने लगा हैं 2024 के लोकसभा का। अब देखना हैं की कांग्रेस सचिन और गहलोत की खींचतान के बीच कैसे सामना करती हैं। Read More...





मरुप्रदेश अब मांग नहीं हक़ हैं

     मरुप्रदेश अब मांग नहीं हक़ हैं

Jaisalmer Temple

 

 मरू प्रदेश की मांग कोई नई नही हैं। राजस्थान निर्माण समय से अलग अलग रूप में नए राज्य के  निर्माण की मांग जनता द्वारा की जाती रही हैं। कारण बहुत साफ हैं।जब किसी क्षेत्र का सर्वांगीण विकास देश दुनिया की गति से नहीं होता हो।और क्षेत्र की भाषा,रीति रिवाज, संस्कृति और भौगोलिक संरचना भिन्नता से परिपूर्ण हो।

        जो दुनियां का 09 वाँ सबसे गर्म स्थान  हो।जहां वर्ष भर तेज धूलभरी आंधियां,बंजड़ जमीन,कंटीली झाड़ियां,विपदाओं भरा जीवन,पानी की अनुउपलब्धता,पशुपालन पर आधारित अर्थव्यवस्था व रोजगार की तलाश में भटकते नागरिक, स्वास्थ सेवाओं के लिए 200-300 किलोमीटर का सफर, राजधानी की दूरी ,रुकने ठहरने की समस्या और खर्चा साथ में शारीरिक मानसिक थकान जैसी विषम परिस्थितियों में कोई भी राज्य  विकास की धारा से संपूर्ण विलय बहुत मुश्किल हैं।इसलिए राजस्थान को दो भागों में विभाजित करके मरूप्रदेश का निर्माण करना जनता जनार्धन के साथ भारत के विकास में अहम फैसला हो सकता हैं। जो राज्य दुनिया के 109 देशों से भी क्षेत्रफल में बड़ा हो। वो देश के विकास में मुख्य भूमिका निभा सकता हैं।

 मरुप्रदेश का संभावित प्रशासनिक स्वरुप

      वर्तमान राजस्थान जो की 10 संभाग और 50 जिलों में वर्गीकृत हैं। यदि हैं निम्न 19 जिलों के साथ 4 संभाग को मरूप्रदेश से जोड़ते हैं तो एक नए राज्य को जन्म दे सकते हैं।

राज्य - मरूप्रदेश

राजधानी मुख्यालय - जोधपुर

सम्भांग की लिस्ट

1.जोधपुर

2.पाली

3.सीकर

4.बीकानेर

जिला मुख्यालय की लिस्ट

1.अनूपगढ़

2.गंगानगर

3.हनुमानगढ़

4.बीकानेर

5. नागौर

6.सीकर

7.डीडवाना

8.कुचामनसिटी

9.ब्यावर

10.पूर्वी जोधपुर

11.फलोदी

12.जैसलमेर

13.बालोतरा

14 बाड़मेर

15. सांचौर

16. जालौर

17.सिरोही

18.पाली

19.पश्चिमी जोधपुर

संभावित भौगोलिक भू-भाग


मरुप्रदेश का क्षेत्रफल- 2,13,883 वर्ग किमी.

मरुप्रदेश की जनसंख्या- 2,85,65,500

मरुप्रदेश की साक्षरता दर 63.80%

मरुप्रदेश में गरीब 68.85 लाख

मरुप्रदेश में शिक्षित बेरोजगार 10 लाख

मरुप्रदेश की प्रति व्यक्ति आय 252 ₹

          यह संभावित डाटा हमे नया मरूप्रदेश बनाने की और अग्रसर होने को विवश करता हैं। जो व्यक्ति इस भू भाग में विचरण कर चुका हैं वो कह सकता हैं की आज भी इस क्षेत्र का ग्रामीण परिवेश आजादी के 75 साल बाद भी देश की मुख्य धारा से 25-30 वर्ष पिछड़ा हुआ हैं।

मरुप्रदेश का इतिहास 

       यह बात किसी से छुपी हुई नहीं है कि राजस्थान निर्माण के दौरान बीकानेर और जोधपुर रियासत ने विलय कब पूरी ताकत से विरोध किया था तत्कालीन जोधपुर महाराजा हनवंत सिंह पहली लोकसभा में काली पगड़ी पहनकर पहुंचे थे 1953 में श्रीमान प्रताप सिंह पूर्व मंत्री बीकानेर स्टेट नेवी बीकानेर का राजस्थान विलय के विरोध में बंद का आह्वान किया था लेकिन सरकार ने अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा का हवाला देकर इस मांग को खारिज कर दिया गया था मरू प्रदेश दुनिया का नौवा गर्म स्थान है तेज धूल भरी आंधियां बंजर जमीन कटीली झाड़ियां के पदों से परिपूर्ण पानी की अनुपलब्धता पशुपालन पर आधारित रोजगार की कमी से  ग्रसित क्षेत्र है पूर्व सांसद स्वामी केशवानंद ने अपनी पुस्तक "मरुभूमि सेवा" में भी रेगिस्तान के संपूर्ण विकास के लिए मरू प्रदेश की मांग की थी स्वर्गीय गुमान सिंह लोधा 1998, महाराजगंज सिंह ने, बाड़मेर से अमृता जी ने ,लेखक दिलसुख राय चौधरी सीकर, पूर्व विदेश मंत्री जसवंत सिंह ने भी अलग-अलग समय पर राजस्थान में मरूप्रदेश की मांग उठाई है। यहां तक कि 3 नए राज्य निर्माण के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के सामने राजस्थान के वर्तमान मुख्यमंत्री भैरों सिंह शेखावत ने सन् 2000 से 2001 के बीच में पत्र लिखकर इस मांग को रखा था.

मरू प्रदेश भारत को विश्व शक्ति  बनने मुख्य आधार साबित हो सकता है.

*मरुप्रदेश बनने से आम आदमी की पहुंच सरकार-प्रशासन तक आसान हो सकती हैं। आज जैसलमेर से जयपुर की दुरी 675 किलोमीटर की हैं /12 घंटे का सफर किसी भी बुजुर्ग व्यक्ति की सोचने मात्र से  रूह काँप जाती हैं।
*सरकार और प्रशासन अपनी नीतिओ को दूरदराज के  गांव तक पहुव्हा सकता हैं। बेहतरीन तरीके से निगरानी रख सकता हैं।
*भ्रष्टाचार और माफिया गठजोड़ का खात्मा करना आसान हो जाता हैं
*सरकार,प्रशासन और जनता का प्रदेश में आवगमन कम होगा और  व्यय में कटौती संभव हो पायेगी ।जयपुर जैसे शहरों पर जनसख्या का दबाब घटेगा।
*  अधिकारी और सरकार के मंत्रीगण जनता से सीधा संपर्क बढ़ेगा तो संवाद सेतु बनेगा जिससे जनता से जुडी हुई समस्याओ का निराकरण समय पर तेजी होंगे।
* इस समय मरुप्रदेश में आय के लिए मिनरल्स ,उद्योग,पशुधन, खेती में नवाचार, सौर ऊर्जा का उत्पादन, बाड़मेर में पेट्रोलियम रिफाइनरी,जैसलमेर,जोधपुर,माउंट अबू,रणकपुर जैसे पर्यटक स्थानों , जोधपुर का हैंडिक्राफ्ट उद्योग, जैसलमेर और जालोर में चमड़ा उद्योग,नए मेडिकल कॉलेज,इंदिरा गाँधी नहर,मूंगफली,जीरा,इसबगोल,अनार ,सरसों जैसी फसलों का मुख्य केंद्र निश्चित मरुप्रदेश को नई  बुलंदियों पर ले जाने का मादा रकते हैं।
* मात्र पानी के प्रबंधन से ही मरुप्रदेश अकेला अन्न के भण्डार भरने में सक्षम हो सकता हैं। जो भारत की भुखमरी मिटाने के लिए सहायक हो सकता हैं।
*भारत में जंगल,समुद्र,पहाड़ बहुत जगह पर हैं लेकिन रेगिस्तान मात्र मरुप्रदेश में ही हैं जो की पर्यटकों के लिए समेशा से आकर्षण का केंद्र रहा हैं। विशवस्तरीय व्यवस्तओं का विस्तार करके इसे दुनिया में अलग पहचान दी जा सकती हैं।
*सीकर झुंझुनू की शिक्षा और भारतीय सेना में योगदान,चूरू स्पोर्ट्स का हब,गंगानगर,अनूपगढ़,हनुमागढ़ कृषि आधारित उद्योग,नागोरी में मार्बल जालोर में ग्रेनाइट,जालोर बाडमेंर में अनार ,जीरा,ईसबगोल का उत्पादन,दुग्ध उतपदं, भेड़ ,बकरी और ऊँट का पशुधन, बारमेर की हिरण ,बीकानेर का भुजया पापड़,बीकानेर और जोधपुर का रिच खाना माउंट की प्राकृतिक छटा,ये सब मरु प्रदेश को नई पहचान देने में सक्षम हैं।
     
  इन सभी मापदंडो को देकते हुए निश्चित केंद्र सरकार को राज्य का विभाजन करके विकास  के नए मापदंड निर्धारित करने चाहिए। और जनता को मरुप्रदेश बनाकर रेगिस्तान की जनता के साथ न्याय करना चाहिए।
 

मरुप्रदेश अब मांग नहीं हक़ हैं. 

बुधवार, 22 मार्च 2023

इण्डिया और ऑस्ट्रेलिया में खिताबी मुकाबले में इण्डिया की हार

ऑस्ट्रेलिया ने भारत से  2-1 से  ODI सीरीज जीती


    इण्डिया और ऑस्ट्रेलिया में 3 मैचों की सीरीज का खिताबी मुकाबला आज एम ए चिंदरम स्टेडियम चिन्नई में खेला गया। ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच 21 रन से जीत कर सीरीज 2- 1 से अपने नाम की।

   मैच का टॉस ऑस्ट्रेलिया कप्तान बी स्मिथ ने जीता और बैटिंग करने का फैसला किया। पहले बैटिंग करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 269 का स्कोर किया। उनकी ओपनिंग जोड़ी टी हेड और एम मार्श ने क्रमश  33 और 47 रन बनाकर सही साबित किया । जब ऑस्ट्रेलिया टीम तेजी से 7 ओवर की गति से स्कोर बना रही थी तब हार्दिक पटेल ने ऑस्ट्रेलिया टीम की सलामी जोड़ी के साथ कैप्टन स्मिथ को सस्ते में पेवेलियन लोटा कर ब्रेक लगाने का काम किया और इण्डिया को गेम में वापसी कारवाई। उनका साथ दिया चाइनामेन कुलदीप यादव ने जिन्होंने मिडिल ऑर्डर को पैर जमाने का मौका नहीं दिया। और किफायती गेंदबाजी करते हुए 3 विकेट अपने खाते में किए। भारत की और से सिराज और अक्षर पटेल ने भी 2-2 विकेट लेने में सफलता प्राप्त की।और ऑस्ट्रेलिया की टीम को 269 के स्कोर  पर समेट दिया। इंडिया को 50 ओवर में जितने के लिए 50 ओवर में 270 रन का लक्ष्य मिला।

इण्डिया पारी को  सुभमन गिल और रोहित शर्मा ने अच्छी शुरुवात दी दोनो को पारी शतकीय साझेदारी की तरफ बढ़ रहीं थी तभी ऑसिरियल बॉलर सीन एबॉट ने 30 के स्कोर पर मिचेल के हाथो कैच थमा बैठे। सुभमन का साथ देने आए विराट कोहली और पारी को आगे बढ़ाया। ऑस्ट्रेलिया की सबसे एडम जंपा ने 37 के स्कोर पर गिल को पेवेलियन का रास्ता दिखाया। चटान की तरह विराट  अपनी पारी को आगे बढ़ा रहे थे । केएल राहुल के साथ एक अच्छी  साझेदारी पनप रही थी। लेकिन धीमी शुरुवात के बाद कुछ अच्छे शॉट्स खेलने के बाद 50 बॉल पर 32 रन बनाकर केएल राहुल भी जंपा की फिरकी में फस कर अपनी विकेट खो बैठे ।  स्पिन बॉलर अगर अपने कोटे के अंतिम ओवर में विराट को 54 रन पर वार्नर के हाथो कैच करवाया और अगली ही बॉल पर सूर्या कुमार डक पर बोल्ड हो गए। अगर ने एकतरफा मुकाबले को 2 लगातार विकेट लेके ऑस्ट्रेलिया को मैच में वापसी कराई।एक समय भारत 185 रन पर अपनी 6 अहम विकेट खो चुके था और हार्दिक पांडे और जडेजा के ऊपर मैच जिताने का दामोदार था। लेकिन नियमित अंतराल में विकेट का पतन जारी रहा। एडम जंपा ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 4 विकेट लिए और आखिर भारत की पूरी टीम 49.1 ओवर में मात्र 248 रन पर ऑल आउट होंगे और  लगातार ऑस्ट्रेलिया से तीसरी बार सीरीज हार गई।

मैन ऑफ दा  सीरीज और मैन ऑफ द मैच

ODI सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज  मार्श के सर्वाधिक 194 रन बनाने के लिए मैन ऑफ द सीरीज का खिताब दिया  गया । और आज के मैच में एडम जंपा को 4 विकेट के लिए  मैन ऑफ़ दा मैच का ख़िताब दिया गया।।।

सूर्यकुमार का गोल्डन डक

ऑस्ट्रेलिया के साथ यह सीरीज सूर्य कुमार के लिए एक दुस्वपन से कम नही होगी। सभी मैचों में सूर्यकुमार अपना खाता भी नहीं खोल पाए और हर तीनो बार अपनी पहली बॉल पर ही पेवेलियन का रास्ता नापते नजर आए। शुरुवाती दो मैचों में सूर्य कुमार LBW आउट हुए और अंतिम मैच में क्लीन बोल्ड होकर अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम किया।।इससे पहले सचिन तेंदुलकर,अनिल कुंबले, जाहिर खान,इशांत शर्मा और जसमीत बुमरा गोल्डन डक का सामना करना पड़ा।इसके साथ ही सूर्य कुमार दुनियां के तहरवे खिलाड़ी बन गए हो गोल्डन डक में अपना नाम दर्ज कराया।

आज के मैच की रोचक घटना

मैच के 42 वें ओवर में स्टाइनिस अपने ओवर की 5 वीं बाल करने के लिए जैसे ही दौड़े तभी एक बाज़ एकदम से नीचे ग्राउंड पे आया। बॉलर को अपने गेंदबाजी रोकनी पड़ी उस समय हार्दिक पांडे स्ट्राइक पर बैटिंग कर रहे थे। तभी देखा की ग्राउंड पर एक दम कुछ ऊंचाई पर बहुत से बाज़ मंडराने लगे जिसके कारण कुछ देर के लिए मैच को रोकना पड़ा।

प्रधानमंत्री को गालियों का ग्राफ़ शतक की ओर -Top 51 Abuses words by politician in India

 

कांग्रेस के गालीबाज-नीच, बिच्छ,रावण के बाद जहरीला साँप तक 

इस समय कर्नाटक चुनाव अपने परवान की और बढ़ रहा हैं। कांग्रेस और बीजेपी दोनों के लिए ही यह चुनाव आनबान व शान की लड़ाई हैं। 2014 के बाद सत्ता से वंचित कांग्रेस ने अपनी भाषा स्तर बहुत गिरा दिया हैं। अब कांग्रेस  अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधामंत्री को देश के लिए जहरीला साँप की संज्ञा दी हैं। हालांकि पुराने अनुभव को देखते हुए वोटों का नुकसान देखते हुए उन्होंने अपने कहे हुए शब्द वापस लिए हैं। और माफ़ी मांगी हैं। 

दो गाली खाते हो लेकिन 4 क्विंटल देते हो

कांग्रेस अध्यक्ष खरगे यहीं नहीं रुके. उन्होंने प्रधानमंत्री के बीते दिनों हुए रोड शो को लेकर भी उन पर निशाना साधा. खरगे ने कहा, "कल भी रोड शो, आज भी रोड शो... आपको तो दिल्ली में भेजा है. अरे भाई आप तो दो किलो गाली खाते हो लेकिन कांग्रेस को 4 क्विंटल गालियां देते हो."

खड़गे के बेटे प्रियांक खड़गे ने कहा नालायक

 मल्लिकार्जुन खड़गे के बेटे प्रियांक खड़गे एक रैली को संबोधित कर रहे थे। प्रियांक खड़गे ने कहा, "...जब पीएम मोदी कलबुर्गी आए थे, तो उन्होंने कहा था- आप सब डरिए मत, बंजारा कम्युनिटी का एक बेटा दिल्ली में बैठा है। लेकिन बेटा नालायक होगा तो कोई क्या कर लेगा। बैठेगा तो घर कैसे चलेगा?"

     वर्तमान समय में राजनीति में गाली गलौच आम बात होगई हैं, यह सही हैं की राजनीती का नैतिक पतन हैं,जो लोग सामाजिक जीवन में कार्य करते हैं और जनता उनकी एक आवाज पर मरने मारने पर उतारू हो जाती हैं ,उनकी विचारधारा से लोग प्रभावित होते हैं वो जब भाषा की मर्यादा लाँगते हैं तो ये दर्शाता हैं की उनकी राजनीति मनोदिशा कैसी होगी ,यह पार्टियों में अनुशासन की कमी को दर्शाता हैं। 

           भाषा में संयम और धैर्य ही एक अच्छे नेता के लक्षण होते हैं,किसी व्यक्ति पे व्यक्तिगत टिका टिप्पणी करना कंहा तक उचित हैं ,इसे रोका जाना चाहिए अन्यथा आने वाली पीढ़ी आपके इस चरित्र पर टिका टिपण्णी करने से गुरेज नहीं करेंगी,हमें नहीं भूलना चाहिए की हम उस देश के निवासी हैं जंहा पशु पक्षी से लेकर जीव जंतु को भी समान दिया जाता हैं। इस प्रकार की भाषा से  राजनैतिक में फायदा नहीं होता हैं ,आपका एक वाक्य आपको चुनाव हरा देता हैं ,

        इसका मतलब जनता इस तरह की भाषा को नकारती हैं इसलिए एक दूसरे की  समान की राजनीती ही  देश और पार्टी को उचित जगह निर्धारित करती हैं।
       इस लेख में कांग्रेस के नेताओं ने जो शब्द काम में लिए हैं वो निंदनीय हैं इस तरह की भाषा
से राजैनितक पार्टीयों को परहेज  करना चाहिये। 

कांग्रेस नेता No.1 👉अर्जुन मोढवाडिया  

जन्म तिथि 👉17 Feb 1957 (उम्र 66)

 विवेक खोने की तारीख 👉9/04/2019

  मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉गदहा/मोदी रैबिज से पीड़ित हैं/

गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष अर्जुन मोडवाडिया ने अक्तूबर 2012 की अपनी चुनावी रैली के भाषण में नरेंद्र मोदी की तुलना बंदर से की थी। मोडवाडिया ने यह भी कहा था कि मोदी रैबिज से पीड़ित हैं।

नवंबर 2012 में अपने चुनाव प्रचार के दौरान चुनावी रैलियों में मोदी जी के निजी जीवन के बारे में बोलना शुरू कर दिया। उन्होंने मोदी के वैवाहिक जीवन पर सवाल खडे़ किये। बाद में चुनाव आयोग ने उनको फटकार लगाते हुए नोटिस भेजा 

शुद्ध संपत्ति₹👉3.9 CRORE

 

कांग्रेस नेता No.2 👉बी नारायण राव

जन्म तिथि 👉1 July 1955(68 Y)

विवेक खोने की तारीख 👉18/03/2019

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉नामर्द

कर्नाटक कांग्रेस के नेता और प्रदेश के विधायक बी नारायण राव ने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर विवादित बयान दिया है। राहुल के करीबी बी नारायण राव ने प्रधानमंत्री मोदी को नामर्द कहा। बीदर जिले के बसवकल्याण से कांग्रेस विधायक राव ने यह विवादित बयान एक जनसभा के दौरान दिया। राव ने कहा कि जो लोग नामर्द हैं वे शादी कर सकते हैं, लेकिन बच्चे नहीं कर सकते।

शुद्ध संपत्ति₹👉8 Crore+


कांग्रेस नेता No.3 👉
पवन खेड़ा

जन्म तिथि 👉31 July 1968(55 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉16/03/2019

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉ओसामा, दाउद, ISI

पवन खेड़ा ने पीएम मोदी की तुलना आतंकी मसूद अजहर, ओसामा बिन लादेन, दाऊद इब्राहिम और आईएसआई से कर दी थी। कांग्रेस प्रवक्ता खेड़ा ने टीवी बहस के दौरान कहा कि MODI का मतलब है मसूद अजहर, ओसामा, दाऊद और आईएसआई।

शुद्ध संपत्ति₹👉56 lac

पहचान फोटो👇


कांग्रेस नेता No.4 👉
विजयाशांति

जन्म तिथि 👉24 June 1966(57 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉09/03/2019

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉आतंकवादी,तानाशाह 

राहुल के साथ शम्साबाद में एक जनसभा में विजयाशांति ने कहा कि लोग प्रधानमंत्री मोदी से डरते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि पता नहीं कब वे बम फेंक दें। उन्होंने कहा, ‘वे (पीएम मोदी) आतंकी जैसा दिखते हैं। लोगों को प्यार करने के बजाय उन्हें वे डराते हैं। किसी प्रधानमंत्री को ऐसा नहीं होना चाहिए।’

शुद्ध संपत्ति₹👉41 crore

पहचान फोटो 👇

कांग्रेस नेता No.5 👉
राशिद अल्वी

जन्म तिथि 👉15 April 1956(67 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉25/01/2019

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉नकारा बेटा

शुद्ध संपत्ति₹👉93 Lac

पहचान फोटो 👇

कांग्रेस नेता No.6 👉 सुशील कुमार शिंदे

जन्म तिथि 👉 4 सितम्बर 1941

विवेक खोने की तारीख 👉10/01/2019

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 तानाशाह, हिटलर

 कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की हिटलर से की है। शिंदे ने कहा कि पीएम मोदी एक तानाशाह की तरह बर्ताव कर रहे हैं।

शुद्ध संपत्ति👉17 Crore

पहचान फोटो 👇


कांग्रेस नेता No.7 👉 श्यामसुंदर सिंह धीरज

  जन्म तिथि 👉 4 सितम्बर 1941

        विवेक खोने की तारीख 👉 26/12/2018

 मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 चोर, नटवरलाल

                        शुद्ध संपत्ति👉17 Crore

                         Photo👇 


                    कांग्रेस नेता No.8 👉रणदीप सुरजेवाला

                         जन्म तिथि 👉June 1967 (56 year)

विवेक खोने की तारीख 👉07/12/2018

       मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉मोहम्मद बिन तुगलक

                           शुद्ध संपत्ति₹👉12 Crore+

      पहचान फोटो 👇

       कांग्रेस नेता No.9 👉महेंद्रजीत मालवीय

                                   जन्म तिथि 👉2 December 1960 (63 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉03/12/2018

            मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉मोदी की मां को अपशब्द

महेंद्रजीत सिंह मालवीय ने गालीगलौज की तमाम हदों को पार करते हुए प्रधानमंत्री मोदी को गाली दी और उनकी मां के बारे में अपशब्द कहे। हिन्दी और वागड़ी में दिए भाषण के दौरान मालवीय ने भाजपा के नारे ‘हर-हर मोदी, घर-घर मोदी’ को दो बार बोलने के बाद प्रधानमंत्री मोदी को गाली दी और उनकी मां के बारे में अपशब्दों का इस्तेमाल किया। 

                          शुद्ध संपत्ति₹👉₹ 50,617,712

             पहचान फोटो 👇

 


 

                                कांग्रेस नेता No.10 👉इरफान अंसारी

जन्म तिथि 👉17 January 1975 (48 years)

विवेक खोने की तारीख 👉26/11/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉साला मोदी

शुद्ध संपत्ति₹👉2.6 Cr.

     पहचान फोटो 👇

कांग्रेस नेता No.11 👉 विलासराव मुत्तेमवार

जन्म तिथि 👉  22 March 1949 (74 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 26/11/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मोदी का बाप कौन है ?

शुद्ध संपत्ति₹ 👉 2Cr.

पहचान फोटो 👇

कांग्रेस नेता No.12 👉-जिग्नेश मेवाणी

जन्म तिथि 👉11 दिसंबर 1982

कांग्रेस नेता No.12 👉 25/11/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉मोदी नालायक बेटा

 शुद्ध संपत्ति

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.13 👉राज बब्बर 

 जन्म तिथि 👉  23 June 1952

विवेक खोने की तारीख 👉  22/11/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉डॉलर मोदी की जां जितना गिरा

 शुद्ध संपत्ति₹👉20 Cr

 फोटो👇


    कांग्रेस नेता No.14 👉 संजय निरुपम

जन्म तिथि 👉  6 February 1965

विवेक खोने की तारीख 👉 09/11/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मोदी से बुरा कुछ है ही नहीं

नरेन्द्र मोदी से बुरा तो कुछ है ही नहीं। ऐसा न हो कि नरेन्द्र मोदी की पैदाइश के लिए भी कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा दिया जाए,अपशब्दों का सिलसिला यहीं नहीं थमा, निरुपम ने यह भी कह दिया कि, ‘हम आपके जैसे क्रूर नहीं हैं कि आपको फांसी पर चढ़ाएं। 

शुद्ध संपत्ति₹👉12 Cr

पहचान फोटो 👇

 


कांग्रेस नेता No.15 👉 मल्लिकार्जुन खड़गे

जन्म तिथि 👉 21 July 1942 (81Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 04/11/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मोदी हिटलर

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने अपशब्द का इस्तेमाल करते हिए प्रधानमंत्री मोदी की तुलना ‘हिटलर’ से की है

शुद्ध संपत्ति₹👉15 Cr

पहचान फोटो 👇

 


कांग्रेस नेता No.16 👉 जिग्नेश मेवाणी

जन्म तिथि 👉  11 Dec 1982

विवेक खोने की तारीख 👉 25/10/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 नमक हराम

शुद्ध संपत्ति₹👉35 Lac

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.16 👉 राहुल गांधी

जन्म तिथि 👉  19 June 1970 (53 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 20/09/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 हिंदुस्तान का चौकीदार चोर

एक तरफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सार्वजनिक रैली में कहते हैं कि नरेन्द्र मोदी हिन्दुस्तान के प्रधानमंत्री हैं। हम उनका आदर करते हैं। हमें वो गाली दे सकते हैं, लेकिन हम और हमारे लोग ऐसा नहीं कर सकते। हालांकि राहुल गांधी के कथनी-करनी में अंतर है। राहुल गांधी ने 20 सितंबर को राजस्थान के डूंगरपुर में कहा कि, ‘नरेंद्र मोदी जी ने कहा था मैं देश का प्रधानमंत्री नहीं बनना चाहता हूं, मैं देश का चौकीदार बनना चाहता हूं… लेकिन आज देश के दिल में, राजस्थान की जनता के दिल में एक नयी आवाज उठ रही है… गली-गली में शोर है, हिंदुस्तान का चौकीदार चोर है।’

शुद्ध संपत्ति₹👉15 Cr.

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.17 👉 संजय निरुपम

जन्म तिथि 👉  6 February 1965

विवेक खोने की तारीख 👉 12/09/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 अनपढ़-गंवार

शुद्ध संपत्ति₹👉12 Cr

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.18 👉 रणदीप सुरजेवाला

जन्म तिथि 👉  June 1967

विवेक खोने की तारीख 👉 26/06/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 शाहऔरंगजेब से भी क्रूर तानाशाह

शुद्ध संपत्ति₹👉12Cr

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.19 👉 अल्पेश ठाकोर

जन्म तिथि 👉  47 Year

विवेक खोने की तारीख 👉 19/02/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 साला मोदी

शुद्ध संपत्ति₹👉3 Cr

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.20 👉 दिव्या स्पंदना

जन्म तिथि 👉  29 November 1982

विवेक खोने की तारीख 👉 04/02/2018

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 नशेड़ी

शुद्ध संपत्ति₹👉2Cr.

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.21 👉 जिग्नेश मेवानी

जन्म तिथि 👉  11 Dec 1982

विवेक खोने की तारीख 👉 19/12/2017

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मानसिक बूढ़े

शुद्ध संपत्ति₹👉35 Lac

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.22 👉 संजय निरुपम

जन्म तिथि 👉  6 February 1965

विवेक खोने की तारीख 👉 13 /12/2017

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 निक्कमा

न्यूज चैनल आजतक पर बहस के दौरान कांग्रेस के बड़बोले नेता संजय निरुपम ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निकम्मा कह दिया।

शुद्ध संपत्ति₹👉12 Cr.

फोटो👇

 

कांग्रेस नेता No.23 👉 सलमान निजामी

विवेक खोने की तारीख 👉 09/12/2017

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 पिता कौन ? दादा कौन 

Photo 👇



कांग्रेस नेता No.24 👉 मणिशंकर अय्यर

जन्म तिथि 👉  10 अप्रैल 1941 (आयु 82)

विवेक खोने की तारीख 👉 7/12/2017

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 नीच किस्म का आदमी

मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री मोदी पर बयान देते हुए कहा कि “मुझको लगता है कि ये आदमी बहुत नीच किस्म का है, इसमें कोई सभ्यता नहीं है, और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति की क्या आवश्यकता है ?” 

शुद्ध संपत्ति₹👉8Cr

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.25 👉 आनंद शर्मा

जन्म तिथि 👉5 जनवरी 1953 

विवेक खोने की तारीख 👉 27/11/2017

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मानसिक बीमार

कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने मीडिया से कहा कि, “प्रधानमंत्री एक अस्वस्थ मानसिकता से गुजर रहे हैं

शुद्ध संपत्ति₹👉6Cr

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.26 👉 यूथ कांग्रेस मैग्जीन

विवेक खोने की तारीख 👉 21/11/2017

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 विवादित ट्वीट

शुद्ध संपत्ति

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.27 👉 मनीष तिवारी

जन्म तिथि 👉  8 December 1965

विवेक खोने की तारीख 👉 17/09/2017

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 चुतियो का भक्त,भक्तो का चुतीया

शुद्ध संपत्ति₹👉15 Cr

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.28 👉 दिग्विजय सिंह

जन्म तिथि 👉  28 फरवरी 1947

विवेक खोने की तारीख 👉 08/09/2017

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 अपमानजनक ट्वीट

दिग्विजय सिंह ने जो ट्वीट पोस्ट किया, उसमें मोदी की तस्वीर के साथ तीन लाइन लिखी गई हैं। इसमें लिखा है, ‘मेरी 2 उपलब्धियां: 1- भक्तों को चुतिया बनाया, 2- चुतिया को भक्त बनाया।

शुद्ध संपत्ति₹ 40 Cr.

फोटो


 

कांग्रेस नेता No.29 👉प्रमोद तिवारी

जन्म तिथि 👉  16 July 1952

विवेक खोने की तारीख 👉 16/09/2016

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 गद्दाफी ,मुसोलिनी ,हिटलर  

शुद्ध संपत्ति₹👉12 Cr

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.30 👉 राहुल गांधी

जन्म तिथि 👉  19 June 1970 (53 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 06/10/2016

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 जवानो के खून के दलाल

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अपमान करते हुए उन्हें जवानों के खून का दलाल तक कह डाला। 6 अक्टूबर, 2016 को किसान यात्रा के दौरान दिल्ली पहुंचने पर इन शब्दों का इस्तेमाल किया। प्रधानमंत्री के साथ-साथ सेना का भी अपमान किया

शुद्ध संपत्ति₹👉15 Cr

फोटो

 


कांग्रेस नेता No.31 👉 राशिद अल्वी

जन्म तिथि 👉  15 April 1956(67 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 16/05/2016

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 Most stupid PM

शुद्ध संपत्ति₹👉93 Lac


 

कांग्रेस नेता No.32 👉 इमरान मसूद

जन्म तिथि 👉  21 April 1971

विवेक खोने की तारीख 👉 28/03/2014

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मोदी के टुकड़े टुकड़े कर देंगे

सहारानपुर से कांग्रेस के उम्मीदवार इमरान मसूद ने एक चुनावी रैली के दौरान 28 मार्च, 2014 को नरेंद्र मोदी को टुकड़े-टुकड़े करने की बात कही।

शुद्ध संपत्ति₹👉5 Cr

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.33 👉 सोनिया गाँधी

जन्म तिथि 👉   9 December 1946(77 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 01/02/2014

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मोदी के टुकड़े टुकड़े कर देंगे

शुद्ध संपत्ति₹👉11 Cr

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.34 👉 सोनिया गाँधी

जन्म तिथि 👉   9 December 1946(77 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 01/02/2014

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉‘ज़हर की खेती’

लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 1 फरवरी, 2014 को कर्नाटक के गुलबर्ग में कहा “मेरा पूरा भरोसा है कि आप ऐसे लोगों को मंजूर नहीं करेंगे जो जहर का बीज बोते हैं।“

शुद्ध संपत्ति₹👉11 Cr

फोटो  👇

 


कांग्रेस नेता No.35 👉 सोनिया गाँधी

जन्म तिथि 👉  9 December 1946(77 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 2007

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मौत का सौदागर

2007 के चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मौत का सौदागर कहा था। गुजरात की जनता ने इस अपमान का बदला लेते हुए कांग्रेस को बुरी तरह से हराया था

शुद्ध संपत्ति₹👉11 Cr

फोटो  👇

 


 कांग्रेस नेता No.36 👉 मणिशंकर अय्यर

जन्म तिथि 👉10 अप्रैल 1941 (आयु 82) 

विवेक खोने की तारीख 👉 03 /03 /2013

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 मौत का सौदागर/ सांप,बिच्छू,गन्दा आदमी

कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद मणिशंकर अय्यर ने 3 मार्च, 2013 को नरेंद्र मोदी को सांप, बिच्छू और गंदा आदमी कहा था।

शुद्ध संपत्ति₹👉12 Cr.

फोटो👇


 

कांग्रेस नेता No.37👉 दिग्विजय सिंह

जन्म तिथि 👉  28 फरवरी 1947

विवेक खोने की तारीख 👉 13 /06/2012

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 रावण

नरेंद्र मोदी की 3D holographic रैली में एक साथ उपस्थिति को उन्होंने रावण बता दिया।

शुद्ध संपत्ति₹ 👉40 Cr.

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.38👉 मणिशंकर अय्यर

जन्म तिथि 👉  10 अप्रैल 1941 (आयु 82)

विवेक खोने की तारीख 👉 नवंबर 2012

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 लहू पुरुष,असत्य का सौदागर 

कांग्रेस नेता और सांसद मणिशंकर अय्यर ने नवंबर, 2012 की एक चुनावी रैली में नरेंद्र मोदी को लहू पुरुष, पानी पुरुष और असत्य का सौदागर बताया।

शुद्ध संपत्ति₹👉12 Cr.

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.39👉सोमा गंदा पटेल

जन्म तिथि 👉  

विवेक खोने की तारीख 👉 नवंबर 2012

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 घांची

शुद्ध संपत्ति

फोटो

 

कांग्रेस नेता No.40👉 अर्जुन मोठवाड़िया  

जन्म तिथि 👉  17 Feb 1957 (उम्र 66)

विवेक खोने की तारीख 👉 October 2012

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 बंदर,रैबीज से पीड़ित

शुद्ध संपत्ति₹👉3.9 Cr

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.41👉 हुसैन दलवाई

जन्म तिथि 👉  15 February 1943

विवेक खोने की तारीख 👉 2012

 मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 चूहा

 शुद्ध संपत्ति₹👉 4 Cr

फोटो👇


कांग्रेस नेता No.42👉 मनीष तिवारी  

जन्म तिथि 👉  8 December 1965

विवेक खोने की तारीख 👉 2012

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 दाऊद इब्राहिम

शुद्ध संपत्ति₹👉 15 Cr

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.43👉 अर्जुन मोठवाड़िया  

जन्म तिथि 👉  17 Feb 1957 (उम्र 66)

विवेक खोने की तारीख 👉 नवम्बर 2012

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 असफल पति

शुद्ध संपत्ति₹👉3.9Cr

फोटो👇

 


कांग्रेस नेता No.44👉 रिजवान उष्मानी  

जन्म तिथि 👉  12 अगस्त 1948- 03 नवंबर 2012

विवेक खोने की तारीख 👉 2009

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 बत्तमीज,नालायक बेटा

शुद्ध संपत्ति-9Cr.

फोटो

 

कांग्रेस नेता No.45👉 सांताराम नाइक  

जन्म तिथि 👉  12 अप्रैल 1946 – 9 जून 2018

विवेक खोने की तारीख 👉 07/06/2013

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 हिटलर,पोल पॉट  

गोवा से कांग्रेस राज्यसभा सांसद शंताराम नाइक ने 7 जून, 2013 में नरेंद्र मोदी की तुलना हिटलर और तानाशाह पोल पोट से की, हालाँकि वो इस दुनिया में नहीं रहे अन्यथा हिटलर के चाबुक का समय देख पते,सही कहा हैं किसी ने व्यक्ति चला जाता हाँ उसकी बोल रह जाती हैं

शुद्ध संपत्ति₹👉2Cr

फोटो👇


कांग्रेस नेता No.46👉 रेणु  चौधरी

जन्म तिथि 👉 13 August 1954

विवेक खोने की तारीख 👉 07/06/2013

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉  नमोनिटिस वायरस 

कांग्रेस में हताशा इस कद्र हावी हैं की कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने 7 जून, 2013 को नरेंद्र मोदी को न्यूमोनिया की तरह का वायरस कहा और उसे नमोनिटिस का नाम दिया।
कांग्रेस को ये नहीं पता की जिसे वो नमोनिटिस वायरस  कह रहे हैं वह कुननें की टेबलेट का थैला भर कर निकला हैं  जो आज दिखाई दे रहा हैं एक एक वायरस का परमानेंट इलाज जारी हैं 

शुद्ध संपत्ति₹👉30 Cr

फोटो👇


 कांग्रेस नेता No.47👉 सलमान खुर्शीद  

जन्म तिथि 👉  1 January 1953 (age 70)

विवेक खोने की तारीख 👉 08/06/2013

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉बंदर 

पूर्व  केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने 8 जून, 2013 को श्री मोदी की बंदर के साथ तुलना की। उन्होंने कहा कि मोदी इस तरह भीड़ को खिंचते हैं, जैसे लोग बंदर के करतब देखने जाते हैं। सलमान खुर्शीद ने जिस परिवेक्ष में कहा था वह अलग था लेकिन अपने चमत्कारी कदमो से मोदी ने दुनिया नाप के ये सिद्ध कर दिया की उनकी प्रतिभा देश नहीं दुनिया के लिए बनी हैं .

शुद्ध संपत्ति₹👉38 Cr.

फोटो👇


कांग्रेस नेता No.48👉 जयराम रमेश

जन्म तिथि 👉  9 अप्रैल 1954 (आयु 68)

विवेक खोने की तारीख 👉 13/06/2013

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 भस्मासुर 

कांग्रेस में आज भी कुछ नेता हैं जिनकी जनता में अच्छी पकड़ हाँ उनमे एक अच्छे नेता क्क व्यक्तित्व हैं लेकिन परिवारवाद में चाटुकारिता इस कदर बढ़ चुकी हाँ की बड़े बड़े नेता भी अपनी बी भाषा पे संयम नहीं रख पाते ,13 जून 2013 को तत्कालीन कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने मोदी को भस्मासुर कहा। 

 शुद्ध संपत्ति₹👉4 Cr.

फोटो👇


कांग्रेस नेता No.49👉 बेनी प्रसाद वर्मा  

जन्म तिथि 👉  1941(82 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 13/07/2013

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 पागल कुत्ता 

कांग्रेस नेता और तत्कालीन केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा ने 14 जुलाई, 2013 को नरेंद्र मोदी को पागल कुत्ता कहा। अभद्र भाषा से यदि सत्ता मिलने लगी तो लोकतंत्र की आवश्यकता नहीं होती  आज वर्तमान समय बता रहा हाँ की पागल कुत्तो का डॉक्टर कौन हैं 

शुद्ध संपत्ति₹👉 7 Cr.

फोटो👇


कांग्रेस नेता No.50👉 गुलाम नबी आजाद  

जन्म तिथि 👉  7 मार्च 1949 ( 74 Year);

विवेक खोने की तारीख 👉 17/08/2013

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 गंगू तेली   

कांग्रेसी नेता तत्कालीन केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद ने 17 अगस्त, 2013 को नरेंद्र मोदी को गंगू तेली बताया।
जो आज उसी गंगू तेली से कश्मीर का मुख्यमंत्री बनने के ख्वाब देख रहा हैं 

शुद्ध संपत्ति-4 Crore+

फोटो👇

 

 कांग्रेस नेता No.51👉 बी के हरिप्रसाद

जन्म तिथि 👉  29 July 1954(69 Year)

विवेक खोने की तारीख 👉 2009

मोदी के लिए गाली या अभद्र शब्द 👉 गन्दी नाली का कीड़ा 

     कांग्रेस नेता बीके हरि प्रसाद ने 2009 में नरेंद्र मोदी को गंदी नाली का क्रीड़ा कहा। जो उनकी मानसिक दशा को दर्शाता हैं सत्ता का नशा इस कदर घुसा हुआ हैं की अपनी मानसिक और भाषा दोनों से नियंत्रण खो चुके हैं साथ में ये अभद्र भाषा इनके सार्वजनिक जीवन से रिटायरमेंट के समय को इंगित करते हैं 

शुद्ध संपत्ति15 Crore+

फोटो👇


 

 


 

चुंबकयुक्त उत्पादों के प्रयोग मात्र से गहन बीमारीयां छुमंतर

केवल सोने पानी पीने और हाथ की कलाई पर मैग्नेटिक ब्रासलेट पहनने से रोगों से चमत्कारी मुक्ति की सचाई             चुम्बकीय चिकित्सा हर आयु के न...