Technology लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Technology लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 2 जून 2023

Apple retail store Sell reached 25 crore in first Month in Delhi and Mumbai in Hindi

  

एप्पल स्टोर की बिक्री 25 करोड़ पहले महीने 

Apple Store in India
       एप्पल मोबाइल फ़ोन का भारत में क्रेज किस क़दर बढ़ रहा हैं इसका अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता हैं।  मुंबई और दिल्ली में एप्पल स्टोर खुलने के एक महीने में इन स्टोर की कुल बिक्री 25  करोड़ से ऊपर रही हैं।  मुंबई स्टोर की उद्धघाटन के दिन १० करोड़ की बिक्री आंकी गई थी। इन स्टोर ने एक महीने में भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स बाजार में सबसे अधिक रेवेन्यू स्टोर में अपना नाम दर्ज करा चुके हैं। यह दिखाता की एप्पल का अपनी प्रोडक्शन यूनिट का चीन से भारत में शिफ्ट करना सही कदम साबित हुआ हैं।

For more News.....

 

गुरुवार, 20 अप्रैल 2023

एप्पल स्टोर अब मुंबई और दिल्ली में

 मोबाइल निर्माण में भारत दुनिया का No 2 देश

भारतीय प्रधानमंत्री की 3 देशो की यात्रा में कल नरेंद्र मोदी  समुद्रीय महाद्वीप ऑस्ट्रेलिया पहुंचे और वंहा के राष्ट्पति के साथ  भारतीय लोगो से संवाद किया और बताया की भारत ने किस प्रकार से विकास की यात्रा में अपने कदम आगे बढ़ाएं हैं।  मोदी ने कहा की जैसे आप लोग भारत को विकसित देशो में देखना चाहते हो वैसे में भी अपने प्यारे देश को दुनिया में फ्रंट से लीड करते हुए देखने का सपना देखता हु

ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्पति ने मोदी को दुनिया का बॉस कह के सम्बोधन किया। मोदी ने बताया की कैसे भारत दुनिया में डाटा और डिजिटल बैंकिंग में दुनिया का नंबर 1 देश बन गया हैं। 

इस  गया हैं। इस वक्त भारत दुनिया में नंबर 2 के पायदान पर हैं। मोबाइल निर्माण के फील्ड में और ये भारत के लिए गर्व की बात हैं। 

 एप्पल स्टोर अब मुंबई और दिल्ली में

 एप्पल स्टोर अब मुंबई और दिल्ली में-CEO Tim Cook ने किया उद्घाटन

      इन दिनों i phone निर्माता कम्पनी Apple के CEO टिम कुक भारत के दौरे पर हैं और उद्देश्य हैं भारत के मार्केट को explore करना। इसके तहद टिम कुक ने मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स के jio world drive मॉल में Apple BKC नाम से अपना पहला स्टोर ओपन किया और इसका उद्घाटन कंपनी के सीईओ टिम कुक ने किया और ग्राहकों का स्वागत किया।

मुंबई Apple स्टोर की विशेषताएं

     वैसे तो Apple के रिटेल स्टोर 20 से अधिक देशों में पहले से ही कार्य कर रहे हैं लेकिन भारत में apple का पहला स्टोर खुलना Apple के लिए नए मार्केट में तेजी से विस्तार करने का प्रयास हैं। जिसका उद्घाटन कंपनी के सीईओ टीम कुक का स्वयं करना मोबाइल और लैपटॉप के मार्केट में नई प्रतिस्पर्धा का बढ़ाने वाला कदम होगा।

Apple ने मुंबई स्टोर को खास तौर पर भारतीय कल्चर को ध्यान में रखते हुए बनाया गया हैं।इसमें ग्राहकों को अलग अलग राज्यो की कलाकृति देखने को मिलेंगी।

1.मुंबई का Apple स्टोर कंपनी के भारत में 25 वर्ष पूरे होने की खुशी में भारतीय ग्राहकों के लिए सौगात है। इसके बाद आज ही सीईओ टीम कुक ने दिल्ली के साकेत में Apple का दूसरा स्टोर का भी विधिवत उद्घाटन कर शुरुवात किया गया।
2.Apple स्टोर का आउटलुक भारतीयकृत दिखाने का प्रयास कियाबगाया हैं जबकि मुंबई के आउटलेट की थीम काले और पीले रंग में मुंबई टैक्सी से प्रेरित दिखाया गया हैं।

3.Apple स्टोर की छत लकड़ी की टाइल्स से 31 मॉड्यूल् बनते हैं जो बेहद आकर्षक दिखाई देते हैं।स्टील की सीढ़ी 14 मीटर की हैं जो पहली मंजिल तक लेकर जाति हैं।
4.Apple स्टोर 100% सोलर ऊर्जा द्वारा संचालित हैं। जो भारत सरकार की कार्बन न्यूट्रल पॉलिसी के तहद बनाया गया हैं।
5.20000 वर्ग फुट में फैला ये स्टोर का पत्थर खास राजस्थान से लाया गया हैं।
6. इसके लिए कंपनी 15%की वार्षिक वृद्धि के साथ हर महीने 42 लाख रुपया का भूकतान करेगी।
7.इस स्टोर पे 100 लोगो की वर्कफोर्स होगी जो 18 भाषा बोल सकती हैं।इससे भारत की सभी भाषाओं के ग्राहकों का ध्यान रखा गया हैं।
8.Apple जीनियस (AI) की सेवायो से ग्राहक खुद प्रोडक्ट की पूरी जानकारी और ट्रेनिंग ले पाएगा।

9.सबसे अच्छी बात यह हैं की इस स्टोर से ग्राहक नए प्रोडक्ट के साथ साथ अपने पुराने Apple के उत्पाद बेच भी सकते हैं।मतलब की एक्सचेंज कर सकते हैं।
10.Apple इसके द्वारा 10 लाख नई नौकरियां देने का लक्ष्य लेकर रोजगार सर्जन का भी कार्य करेगा।

Apple के CEO टिम कुक और मोदी की मुलाकात

      i Phone बनाने वाली कंपनी Apple के CEO टीम कुक बुधवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और कुक ने मोदी के शानदार स्वागत।के लिए धन्यवाद किया। साथ ही कहा की " एजुकेशन डेवलपर्स से लेकर मैन्युफैक्चरिंग और एनवायरमेंट तक देश में इन्वेस्टमेंट के लिए कमिटेड हैं। एंड कुक ने कहा की मोदी द्वारा टेक्नोलॉजी के सकारात्मक प्रभाव के विजन के साथ जुड़े हुए हैं।


रविवार, 22 जनवरी 2023

Bharos a new mobile operating system by IIT Madras

New Mobile Technology by IIT Madras A positive step towards Aatm Nirbhar Bharat,IIT Madras-incubated firm has developed an indigenous mobile operating system-Bharos is the name of new software operating system. It can compete with the Android operating system. This indigenous operating system can benefit India's 100 crore mobile phone users. This is commercially available. Chennai: Taking a step towards self-reliant India, Indian Institute of Technology (IIT Madras)-incubated firm has developed an indigenous mobile operating system. It can compete with the Android operating system. This indigenous operating system can benefit India's 100 crore mobile phone users. This software called 'BharOS' (BAROS) is commercially available. [22/01, 07:54] Ram: of Technology Madras Chennai: Taking a step towards self-reliant India, Indian Institute of Technology (IIT Madras)-incubated firm has developed an indigenous mobile operating system. It can compete with the Android operating system. This indigenous operating system can benefit India's 100 crore mobile phone users. This software called 'BharOS' (BAROS) is commercially available. [22/01, 07:54] Ram: of Technology Madras Chennai: Taking a step towards self-reliant India, Indian Institute of Technology (IIT Madras)-incubated firm has developed an indigenous mobile operating system. It can compete with the Android operating system. This indigenous operating system can benefit India's 100 crore mobile phone users. This software called 'BharOS' (BAROS) is commercially available. [22/01, 07:55] Ram: of Technology Madras Chennai: Taking a step towards self-reliant India, Indian Institute of Technology (IIT Madras)-incubated firm has developed an indigenous mobile operating system. It can compete with the Android operating system. This indigenous operating system can benefit India's 100 crore mobile phone users. This software called 'BharOS' (BAROS) is commercially available. [22/01, 07:55] Ram: of Technology Madras Chennai: Taking a step towards self-reliant India, Indian Institute of Technology (IIT Madras)-incubated firm has developed an indigenous mobile operating system. It can compete with the Android operating system. This indigenous operating system can benefit India's 100 crore mobile phone users. This software called 'BharOS' (BAROS) is commercially available. t can be IInstalled on/off-the-shelf handsets and also very secure operating system. Bharos services are currently offered to organizations that have strict privacy and security needs. This operating system can prove useful for users who have sensitive information and need confidential communication on restricted apps on mobile. Such users require access to private cloud services through private 5G networks. BUILD the foundation of trust of Aatm Nirbhar Bharat Announcing the Indian Mobile Operating System, IIT Madras Director Prof. V. Kamakoti said, Bharos service is a mobile operating system. It is built on the foundation of trust. Its focus is on giving people more freedom, control and flexibility to choose and use the apps that best suit their needs. The system promises to revolutionize the way people think about security and privacy on mobile. NOTA keeps on fixing bugs Bharos provides 'Native Over The Air' (NOTA) updates, said Karthik Iyer, director of J&K Operations Pvt Ltd, the start-up that developed the system. NOTA updates are automatically downloaded and installed on the device. This ensures that the device is always running the latest version of the operating system, including the latest security patches and bug fixes trading in. Five Important key features in Bharos Android's Provides more control, freedom and flexibility, Gives more space than comparison. There is no compulsion to use an unsafe app. keeps happening automatically. Update and caters to privacy. all standard this security "content reference Rajasthan Partika"

बुधवार, 7 दिसंबर 2022

सोने के सिक्के देने वाला ATM

Technology-तकनिकी की एक और सफलता

 


 

तकनिकी की दुनिया को समझने वालो के लिये यह खबर आम बात हैं लेकिन जो लोग इससे दुर है उनके लिये ये विषेश व चटपटी के साथ बहुत उपयोगी साबित हो सकती हैं । आज से पहले हमने एटीएम मशीन से रूपए निकालने हुये देखा है कुछ जगह पे पिज़्ज़ा भी एटीएम से निकलता हुया देखा जा सकता ।। चाय या कोफी मशीन भी कमोवेश यही काम करती हैं । लेकिन सोना जो इनवेस्टमेंट का सदियो से सबसे अच्छा रिटर्न देने वाला माध्यम माना जाता हैं । और हमेशा से ही इसकी चमक कायम रही है । सोने को आम लोगो तक पहुंचाने के उद्देश्य से सोने का व्यवसाय करने वाली कंपनी गोल्डसिका ने दुनिया का पहला एटीएम मशीन जिससे आप 0.5 ग्राम से लेके 100 ग्राम तक के सिके अपने डेबिट व क्रेडिट कार्ड से निकाल सकते है । इस एटीएम को कंपनी ने हैदराबाद मे स्थापित किया है । हैदराबाद की स्टार्टअप कंपनी ओपनक्यूब टेक्नोलॉजी ने इसे तकनिकी सहयोग दिया हैं ।। कंपनी बहुत सिग्रह हैदराबाद मे 2-3 मशीन अलग अलग इलाको मे लगाएगी जिससे लोगो को सोना खरीदने के लिये भटकना नही पड़ेगा।।। कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट Mr प्रताप के अनुसार भारत मे कुल 3000 गोल्ड एटीएम लगाने की योजना हैं ।।और एक मशीन मे 5 kg सोना रखने की क्षमता हैं । तो अब वो दिन दुर नही जब लोग अपने मोहल्ला के नुकड से ही सोना खरीद पायेंगे।।

चुंबकयुक्त उत्पादों के प्रयोग मात्र से गहन बीमारीयां छुमंतर

केवल सोने पानी पीने और हाथ की कलाई पर मैग्नेटिक ब्रासलेट पहनने से रोगों से चमत्कारी मुक्ति की सचाई             चुम्बकीय चिकित्सा हर आयु के न...