Pakisthan लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Pakisthan लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 13 जून 2023

क्या गधों से बदलेगी पाकिस्तान की आर्थिक हालात/गधों का देश पाकिस्तान

 क्या गधों से बदलेगी पाकिस्तान की आर्थिक हालात/गधों का देश पाकिस्तान 

Poor Condition of PAK Economy

      हाल ही में पाकिस्तान इकोनॉमिक (पीईएस) 2022-23 ने अपनी आर्थिक सर्वे रिपोर्ट पेश की जिसमे बताया गया की  इस वक्त पाकिस्तान  गंभीर आर्थिक संकट (Economic Crisis) से जूझ रहा है. पाकिस्तान में बिजनेस ठप पड़ा है. कोई कर्ज देने के लिए भी तैयार नहीं है. खाने-पीने की जरूरी चीजों समेत तमाम वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं।  

 

     इस दुःख की घड़ी में पाकिस्तान के लिए एक खुशखबरी है कि उनके देश में गधों की संख्या बढ़ गई हैं।  हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि गधे पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था में खासा योगदान देते हैं। और गधे हमेशा से आमजीवन में हसीं के पात्र होते हैं। किसी को गधा कहने का मतलब होता हैं।  मुर्ख कहना। क्योंकि गधे को जानवरों में सबसे अधिक मुर्ख माना जाता हैं।   पाकिस्तान से बड़ी संख्या में चीन को बेचे जाते हैं।  

 

     पीईएस 2022-23 का सर्वे बताता है कि गधों की संख्या में 1 लाख का इजाफा हो गया है. पाकिस्तान में गधे 57 लाख से बढ़कर 58 लाख तक हो गए हैं। इस न्यूज़ के कारण पाकिस्तान पुरे विश्व में हँसी का पात्र बना हुआ हैं। 


     अब तो वंहा की आवाम भी बोल रही हैं की पाकिस्तान के राजनेताओ और सेना से अच्छे तो गधे निकले जिन्होंने अपनी आबादी बढाकर कम से कम अपने देश के इस कंगाली हालत में योगदान देने का काम कर रहे हैं।

भारत के गधे पाकिस्तानी गधों से पिछड़े।

      पाकिस्तान के आर्थिक सर्वे 2022-2023 रिपोर्ट के नतीजों में जंहा गधों की संख्या 1 लाख का इजाफा होकर 56 लाख से बढ़कर 57 लाख तक पहुँच गई हैं। वंही भारत में पशुधन जनगणनां 2012  के अनुसार गधों की संख्या 3 लाख 20 हजार थीं। जो 2019 की रिपोर्ट में घटकर  मात्र 1 लाख 20 हजार रह गई हैं। गधों की संख्या में 61.23 % की कमी चिंतनीय विषय हैं।

FAQ ..

Questions :डोंकी(Donkey ) को हिंदी में क्या कहते हैं?/Donkey Meaning in Hindi


Answer : डोंकी को हिंदी में गधा कहते हैं।  यह एक पालतू जानवर होता हैं।  इसकी पहचान कठिन मेहनत के साथ में मूर्खता के रूप में जाना जाता हैं।  डोंकी के लिए अलग अलग परपेक्ष में अलग शब्द काम में लिए जाते हैं।

1  गधा (donkey, burro, jackass, dicky, Neddy, moke)
2 गदहा (ass, donkey)
3  मूर्ख मनुष्य (gull, fathead, dotterel, fool, donkey, dottrel)
    अहमक़

Pak is second largest production of Donkey

दुनिया के सबसे बड़े गधा उत्पादक देश

     पुरे विश्व में चीन सबसे अधिक गधे पालने वाले देशो में टॉप पर हैं। वंही पे पाकिस्तान और एथोपिआ क्रमश द्वितीय और तृतीय नंबर पर हैं।

Question :चीन ही दुनिया में गधों का सबसे बडा आयातक देश क्यों हैं ?
        Answer :गधों के चमड़े से बनने वाले जिलेटिन यानी गोंदनुमा पदार्थ से चीन में एजियाओ (ejiao) नाम की दवा बनाई जाती है. Traditional Chinese Medicine (TCM) के तहत आने वाली ये दवा शरीर में बहुत कारगर होती हैं। इससे मानव की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए दी जाती है. इसके अलावा जोड़ों के दर्द में भी ये कारगर दवा मानी जाती है. रिप्रोडक्टिव समस्या में भी गधे की चमड़ी से बना जिलेटिन दवा की तरह लेते हैं और साथ में गधे का मांस भी खाया जाता है. चीन में इस दवा की भारी मांग है. इसका कारोबार लगभग 130 बिलियन डॉलर का माना जाता है. TCM के तहत आने वाली दूसरी दवाएं भी जानवरों से तैयार होती हैं. दावा किया जाता है कि सांप, बिच्छू, मकड़ी और कॉक्रोच जैसे जीव-जंतुओं से बनने वाली इन दवाओं से कैंसर, स्ट्रोक, पर्किंसन, हार्ट डिसीज और अस्थमा तक का इलाज होता है.



गुरुवार, 18 मई 2023

पाकिस्तान में तेजी से बिगड़ रहे राजनीतिक और आर्थिक हालात, बड़ी संख्या में देश छोड़ रहे हैं नागरिक

इमरान के घर आतंकी की जगह बिस्किट पानी लेकर गए पुलिस अधिकारी

 पाकिस्तान में चल रहा गतिरोध के बीच इमरान खान के घर पहुंची पुलिस को किसी प्रकार के आतंकी तो नहीं मिले अलबत्ता अधिकारी बिस्कुट पानी लेकर खाली हाथ लौटे। इमरान के मुख्य सुरक्षा अधिकारी इफ्तिखार गुमान ने कहा कि पंजाब पुलिस जमां पार्क से खाली हाथ लौटी है। पंजाब पुलिस ने यह कदम इमरान के आवास की विस्तृत तलाशी लेने के लिए वारंट प्राप्त करने के कुछ घंटे बाद उठाया था।

      पंजाब के सूचना मंत्री आमिर मीर ने कहा था कि सैकड़ों पुलिसकर्मी तलाशी अभियान चलाएंगे। बुधवार को पंजाब सरकार ने दावा किया था कि इमरान के घर में 30 से 40 आतंकी छिपे हुए हैं। सरकार ने इमरान को इन आतंकियों को सौंपने के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया था। अल्टीमेटम समाप्त होने होने के बाद लाहौर के कमिश्नर मुहम्मद अली रंधावा, डिप्टी कमिश्नर राफिया हैदर, डीआइजी सादिक डोगर और एसएसपी सोहैब शामिल सहित 100 पुलिस कर्मियों सहित इमरान के घर तलाशी ली लेकिन सरकार का दावा झूंठा साबित हुआ। और फिर से पाक सरकार को बेइज्जत होना पड़ा।

 पाकिस्तान में तेजी से बिगड़ रहे राजनीतिक और आर्थिक हालात

 

  पाकिस्तान के आर्थिक संकट, राजनीतिक अस्थिरता, बढ़ती खाद्य मुद्रास्फीति और आतंकी हमले बढ़ने के चलते बड़ी संख्या में पाकिस्तानी देश छोड़ रहे हैं। लोग अपनी नौकरियां खो रहे हैं।  निवेशक किसी भी प्रकार का निवेश करने का जोखिम नहीं लेना चाहते। गूगल ट्रेंड्स के अनुसार पाकिस्तान में सबसे अधिक पासपोर्ट सर्च किया जा रहा हैं। वर्तमान में पाकिस्तान दुनिया में सबसे अधिक दयनीय हालात का सामना कर रहा हैं।       एक तरफ आजादी के बाद महंगाई दर चरम पर हैं लोगो को दो वक्त की रोटी का बन्दोबस्त करना मुश्किल हो गया हैं। वंही पड़ोसी देश भारत तरक्की की नई बुलंदियों को छू रहा हैं। G -20 की मेजबानी में दुनिया भारत की तारीफ के साथ ग्लोबल लीडर के तौर पर स्वीकार कर रहे हैं यों कहे की प्रतेक फील्ड में भारत दुनिया अपना भविष्य देख रही हैं।

पाकिस्तान में राजनितिक हालत इतने ख़राब हैं की एक्सपर्ट की माने तो राजनितिक पार्टी देश सँभालने की बजाय एक दूसरे के खून की प्यासी हो रही हैं। पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट का कोई आदेश सरकार नहीं मान रही हैं।  सरकार का कोई आदेश जनता नहीं मान रही हैं। पाक सेना केवल मौके के इन्तजार में हैं की कब हालत ख़राब हो और देश की बागडोर सेना के हाथ आये।


भारतीय चैनेलो पर पाकिस्तान में प्रतिबंद   

      पाकिस्तान के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण (पेमरा) ने शुक्रवार को देश भर के स्थानीय केबल टीवी ऑपरेटरों को भारतीय चैनलों का प्रसारण बंद करने का आदेश दिया। उसने चेताया कि यदि वे आदेशों को नहीं माने तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पेमरा ने यह भी कहा कि अतीत में कई केबल ऑपरेटरों ने सुप्रीम कोर्ट के निर्धारित नियमों का पालन नहीं किया था। 

       पाकिस्तान पहले भी कई बार भारतीय फिल्मों और टीवी चैनलों पर प्रतिबंध लगा चुका है। वर्तमान में भारतीय चैनल पाकिस्तान के हालत पर जनता क्र लाइव इंटरव्यू दिखा रहे हैं जिसमे लोग भारत से मदद की गुहार लगा रहे हैं और बहुत से लोग खुल के अपने आप को भारत में विलय की अपील कर रहे हैं।

इमरान खान को आर्मी का अल्टीमेटम

       पाक में राजनितिक अस्थिरता के बिच अब आर्मी का दखल साफ़ देखा जा सकता हैं।  आर्मी ने इमरान खान को देश छोड़ने का अल्टीमेटम दे दिया की वो देश छोड़ दे या आर्मी एक्ट में उन्हें अंदर कर दिया जायेगा। इमरान ने ठुकराई पेशकश, मरते दम तक देश में रहने की कसम खाई। इमरान पहले ही कह चुके हैं की 70% आवाम उनके साथ हैं और वो चुनाव कराकर ही दम लेंगे।

इमरान खान का सत्तारूढ़ पार्टी पर आरोप


पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने सत्तारूढ़ गठबंधन पर सेना को उनकी पार्टी के खिलाफ खड़ा करने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश तबाही की ओर बढ़ रहा है और उसे विघटन का सामना करना पड़ सकता है. खान ने बुधवार को यहां अपने जमां पार्क स्थित आवास से वीडियो संदेश में कहा कि राजनीतिक अस्थिरता को समाप्त करने का एकमात्र तरीका चुनाव कराना है.

शुक्रवार, 3 फ़रवरी 2023

पाकिस्तान गर्भ से है

"करो थाली बजाने की तैयारी"



कुछ दिनों से हमारा पड़ोसी पाकिस्तान गर्भ से है!

ये समाचार तो आपको पता ही हैं!

गत कुछ दिनों से पाकिस्तान के दर्द की शिकायत बढ़ती जा रही है। जिसे देखते हुए डाक्टर मोदी से सम्पर्क किया गया है!

डाक्टर मोदी ने कल रात सोनोग्राफी की रिपोर्ट देखकर बताया, कि बच्चे जुड़वां होने वाले हैं!

पहले की रिपोर्ट में केवल बलूचिस्तान था! परन्तु कल की रिपोर्ट में सिंध भी आया है!

ये सुनकर एक तरफ तो भारत (पिता) में उत्साह की लहर है,  वहीं दूसरी ओर चीन (पाकिस्तान के पीहर वाले) नाराज हैं!

चीन का कहना है कि पाकिस्तान काफी कमजोर और बूढ़ा हो चुका है! प्रथम प्रसव (बंग्लादेश) के जन्म को 50 वर्ष बीत चुके हैं!

इस बीच, काफी कमजोर हो जाने के कारण नये बालक,

और वो भी जुड़वां होने से, पाकिस्तान की जान को खतरा है!

डाक्टर मोदी का कहना है, कि वो चीन की बातों से सहमत है, परन्तु समय अधिक बीत जाने के कारण गर्भपात संभव नहीं है!

पहले जब पाकिस्तान बार-बार काश्मीरी सेब खाने की जिद कर रहा था, तब किसी ने ध्यान नहीं दिया! उससे ये जुड़वां बालकों की समस्या और बढ़ गई है!

जुड़वां बालक होने से डिलीवरी नोर्मल होने की संभावना घट गयी है! डाक्टर मोदी का कहना है, की आवश्यकता होने पर सर्जरी (युद्ध) करना पड़ेगा ! 

अभी आपरेशन का समय निश्चित नहीं हुआ है! पर ये तो तय है, कि जल्द ही पड़ोस में किलकारी गूंजने वाली है!

बताया जा रहा है, कि नवजात शिशुओं के कमजोर स्वास्थ्य को देखते हुए, उन्हें कुछ दिन डाक्टर मोदी अपनी कड़ी निगरानी में रखेंगे!

रविवार, 29 जनवरी 2023

पाकिस्तान की संसद



 

पकिस्तान की संसद मे रमेश कुमार वन्कवानी जो हिन्दुओ के लिये reserve सीट हैं से सांसद है । इनका संलग्न विडियो तेजी से वायरल हो रहा है । जिसमे वो पाकिस्तान की संसद मे वँहा के हिन्दू बहन बेटियों की सुरक्षा के गिड़गिड़ाते व बिलखते नजर आरहे हैं ।पकिस्तान मे हिंदुओ का जबरन धर्म परिवर्तन कोई नया नही हैं । आतंक का प्रयाय बन चुका देश कंगाली के कगार पर दुनिया से कटोरा लेके भिख मांग रहा हैं । आजादी के बाद जँहा भारत मे मुस्लिम आबादी मे जो बढ़ोतरी हुई हैं वो हिन्दुओ से अधिक है ।वंही पाकिस्तान मे हिंदुओ की आबादी बहुत कम रह गई हैं । हर महिने पाक मे अनेक हिंदु लड़कियो को जबरन धर्म परिवर्तन,जबरन विवाह,हत्या,ब्लात्कार जैसी घटनाएँ हो रही है ।और इससे वँहा के अल्पसंख्यक समाज मे इतनी दहशत है की देश के एक सांसद को वँहा के उच्य सदन मे सुरक्षा की भीख मांगनी पड़ रही हैं ।। जँहा पूरी दुनिया मे महिला सशक्तिकरण की कोशिश की जा रही है और भारत जैसे देश मे महिलाओ की शिक्षा व सुरक्षा से लेकर जीवनशैली मे इजाफा हुआ है वंही पाक मे आज भी उन्हे उपभोग की वस्तु मात्र समझा जाता हैं । जो बच्चिया मझहब का मतलब भी नही समझ पाती उनके 18 साल की कम उम्र्ं मे दरिंदगी की स्थिति में पहुँचा दी जाती है । इन सब का एक बहुत बड़ा कारण हैं शिक्षा का अभाव। इस दुनिया मे हर धर्म व मझहब मे मानव धर्म को सर्वोपरि माना गया हैं । लेकिन मुस्लिम समाज के एक बहुत बड़े तपके को इस देश मे देशहित से बड़ा धर्महित लगता हैं जिसका नतिजा है की पाक आतंकवादी का अड़ा बन चुका है । भुखमरी व गरीबी की जकड़न ऐसी कशी हैं की दुनिया ने उनको सहयता देना भी बन्द कर दिया है । वँहा पे खाने की वस्तुओं के साथ साथ दवाईयों की भी कमी होनी लगी हैं । दिवालिया हो चुका पाक अब देश मे विद्रोह होने के कगार पे खड़ा हैं । पूरी दुनिया मे अपनी किरकिरी करा रहा ये देश साथ साथ मे मुस्लिम धर्म को भी बदनाम करने मे लगा हुआ है ।। मुस्लिम देश व हिंदु । ऐसा नही है की सभी मुसलमान देशो मे ऐसा है । भारत उपमहाद्वीप के पडोशी देशो को छोड़ दिया जाय तो अन्य देश अपनी जगह दुनिया के पटल पर अच्छी छवि के साथ अपना योगदान दे रहे है । और हिन्दुओ के साथ अन्य धर्मो को भी सम्मान देते है और समान पाते है ।। पाक जो की हमेशा राजनीतक अस्थिरता के दौर से गुजरता रहा है वह भी उसकी मानसिकता का नतिजा है । जो मोदी उनको दुश्मन दिखता था आज उसमे उनको मशिहा की छवि दिखने लगी हैं ।। वँहा की आवाम को लगता हैं की इस मुश्किल की घड़ी मे केवल भारत हैं जो उसको बचा सकता हैं ।। भारत के देशभक्त मुश्लिम लोग भी इसके लिये आवाज नही उठा पा रहे है क्योंकि कुच देशद्रोही विचार धारा के लोगो ने उनकी आवाज को दबा रखा हैं । अन्यथा मानव सेवा के भाव वाला देश कैसे अपने पडोशी के ऐसे भूखा सोने छोड़ देता। अब भी समय है की पाक को अपनी कटरता की सोच को छोड़ के एक अच्छे पडोशी होने की मिशाल बनने की कोशिश करे।।

बुधवार, 18 जनवरी 2023

पकिस्तान का पिंजरे मे कबुलनामा

 
 
 
पाकिस्तान के वर्तमान PM  साहबाज़  शरीफ की जबान से सच क्या निकला दोनो देशो मे रह रहे परजीवी टाइप के लोगो के पेट मे मरोड़ शुरू होगये।। आइये पहले जाने की शरीफ ने ऐसा क्या कह दिया।शरीफ ने कहा की भारत के साथ हुये 3-4 युध्दो से हमे ये समझ आगया की इनसे केवल हमे भुखमरी,बेरोजगारी,लाचारी,तोहिन,निराशा के अलावा कुछ हासिल नही हुआ । ये शब्द 100% सही है ये दोनो देशो की जनता ही नही अपितु पूरी दुनिया जानती हैं । अब हमे यह समझना होगा की ऐसा कहने की नोबत क्योँ आन पड़ी की पाकिस्थान के PM को वो कहना पड़ा जिसको उसकी आवाम जानती है पर अशिक्षित जनता उसको स्वीकार नही करना चाहती या उनके हुक्मरान के बिल्कुल नही पच सकती । हम सब जानते हैं की दोनो देश एक साथ आजाद हुये और आजादी की 78 साल बाद जँहा भारत मे 80 करोड़ो लोगो को महिने का राशन सरकार की और से @1 रूपया किलो मे मिलता है वंही पाक मे वो @150 मे भी मिलना मुश्किल हो गया है । जँहा भारत corona जैसी महामारी मे अपने लोगो को ही नही बचाया बल्कि दुनिया-भर के लोगो की सेवा की। भारत के PM  मोदी के नेतृत्व ने भारत की जनता को विशवास मे लेके देश को कार्य करके सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास व सबके पर्यास से भारत की उत्पादकता को विश्व पटल पर बहुत अच्छे से रखा और दुनिया की 5th  आर्थिक सक्ती बन गया हैं ।। पाक के PM  का कबूलनामा  व भारत से वार्ता की आग्रह का यही कारण नही हैं । इसके पीछे और गहरा रहस्य हैं वो ये की पाक कभी भी ऐसी स्थिति में नही पहुँचा था जब उसने भारत से युध्द भी लड़े । अब ऐसा क्या परिवर्तन हो गया।। यह बात निश्चिंत नवाज शरीफ ने छोटे भाई को समझाई होगी की मोदी बिना बातचित के बिरयानी खाके केवल बालाकोट व उरि जैसे एग्ज़ाम्पल से समझाने की कोशिस की लेकिन हमारे मियां इमरान नही समझ पाये ।। टमाटर का निर्यात रोक के हमारे व्यापारी वर्ग ने समझाने की कौशिश की लेकिन वो नादान नही समझे । अब दुनिया के साथ साथ चाइना ने भी हाथ पीछे खींचना शुरू कर दिया।  धारा 370 हटा कर भारत ने बता दिया की बिना एक बूँद खुन खराबे के शान्ति से वँहा की जनता को देश हित के कार्यों मे युध्स्थर पर जोड़ दिया गया। जँहा इराक जसे मुस्लिम देश अपना पैसा व्यवसाय मे लगा रहे है । और अब उग्रवादियों को भी पता चल चुका है की कश्मीर मे कोई भी घटना करने के 48-72 घन्टे मे उनका अल्लाह भी वापसी का वारंट निकाल देता है । अब जँहा वो कश्मीर की वादियो के लिये लालयात रहते थे। अब वो भारत की सीमा की तरफ मुह करके सोने मे भी कतराने लगे हैं ।। और अब पाक की इस्थती यह होगई हैं देश मे हालत ऐसे हैं की कभी भी जनता विद्रोह कर सकती हैं उस स्थति मे ना उनका बेमानी का कमाया पैसा बचेगा ना धन दोलत बच पायेगी दुनिया मे दर दर की ठोकर खाने के अलावा कोई रास्ता नही है ।। ये सब हालात से निकलने का पूरी दुनिया मे एक ही मार्ग हैं जो भारत से होकर गुजरता है ।। यह बात पकिस्तान की जनता जनार्दन व वँहा की सेना व राजनीतक पार्टी समझ चुकी हैं ।। की भारत बिना थपड़ दिये ऐसा कर सकता हैं और यदि हाथ उठा लिया तो थपड़ की गूँज इतिहास के पन्नो मे भी सुनाई देगी। इसलिये इस बुद्ध की धरती पर जीवो और जीनेदो के सिद्धांत को अपना लेने मे ही सभी की भलाई है ।। क्योंकि ये स्वार्थी लोगो की जितनी जमात पाकिस्थान मे है उससे कम भारत मे भी नही है ।पर भारत मे बुलडोजर का निर्माण भी युद्घ स्थर पर जारी हैं । जो किसी को बक्सेगा  नही।।इसलिये पाक जैसे मुल्क को शान्ति के मार्ग को अपना कर अपने कर्म ही पूजा हैं पे ध्यान देना होगा। जिसका नतिजा होगा की उन्हे दुनिया के सामने झोली नही फैलानी पड़ेगी। और अपने देश व लोगो का खोया हुया समान वापिस हासिल कर पायेंगे। यही हर भारतवासी की सोच है ।

चुंबकयुक्त उत्पादों के प्रयोग मात्र से गहन बीमारीयां छुमंतर

केवल सोने पानी पीने और हाथ की कलाई पर मैग्नेटिक ब्रासलेट पहनने से रोगों से चमत्कारी मुक्ति की सचाई             चुम्बकीय चिकित्सा हर आयु के न...