सोमवार, 21 नवंबर 2022

मोदी के भाषण का मसाला

                 Modi's मोदी के भाषण का मसाला

 

 मोदी के भाषण का मसाला


        ये सही हैं की नरेंद्र मोदी जब बोलते है तो हर कोई उनको सुनता है । उनकी बोलने का अन्दाज सब को भाता हैं । लेकिन ऐसा क्या हैं की लोंगो के मन मे इतनी जल्दी उसने अपना एक अलग मुकाम बना लिया हैं । इसी मेजिक को समझने का हम आज इस ब्लोग मे समझने की कोशिश करेंगे। देखिये इसको जानने व समझने के लिये मोदी के जीवन को समझना होगा ।। 

       उसके बचपन का जीवन और उसके बाद रास्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के परचारक के रुप मे कार्य करना जिसमे हर दिन अलग अलग जगह पे लोगो से मिलना व उनको समझना यही समय था 

        जब मोदी ने इस दुनिया मे हर तरह के तपके को गहराई से पहचान पाने मे सफल रहा। जब ये विधा उनको आगाई तो उनको ये भी समझ पाने मे सक्षम हो गये की जनता को कब क्या चाहती है । कैसा ताना बाना बुना जाये जिससे देश व जनता को खुशहाली की राह पर आगे बढाया जा सके।। 

      ये सब समझने के बाद जब मोदी जी गुजरात के मुख्यमंत्री रहे वी समय मे उन्होने प्रसाशनिक व प्रबंधक को अच्छे से समझा व गुजरात को एक नये मुकाम तक लेके गये जो देश की GDP मे बहुत अच्छा सहयोग कर रहा है। आज मोदी जी को किसी तरह की guidance की इतनी आवश्यकता नही है वो व्यक्ति व व्यक्तित्व दोनो को भली भाँति समझ रखते हैं व नियमित कार्य करने के कारण जन भावनाओं की अच्छी समझ का नतिजा है की भाजपा पुरे देश मे कामयाब रही हैं ।

         आज गुजरात के चुनाव मे कॉंग्रेस मे राहुल गांधी के गुरु मधुसूदन जी मिस्त्री ने इन चुनाव मे मोदी को औकात दखाने की बात बोल कर 2019 मे जो गलती मणिशंकर ने की थी वही गलती मधुसूदन मिस्ट्री ने कर दी हैं और भाजपा के लिये ग्राउंड साफ कर दिया गया ह।। जिससे उन्को 150 से ऊपर सीट गुजरात मे जितने की भरपुर कोशिश जारी रखे हुये हैं ।।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

If you have any suggestions for betterment.Pls let me know

जयपुर गुलमोहर गार्डन मे कार्पेंटर की धोखाधड़ी।

 पढ़े लिखे लोग भी बन रहे हैं ठगी का शिकार                           जयपुर मे आशियाना बिल्डर की सोसाइटी गुलमोहर गार्डन जो वाटिका मे हैं। यंहा ...