रविवार, 19 फ़रवरी 2023

श्रद्धा हत्याकांड और निक्की यादव लव इन रिलेशनशिप

 

श्रद्धा मर्डर के बाद समाज में एक नई बहस शुरू हो गई हैं ।

 श्रद्धा  हत्याकांड और अब निक्की यादव की हत्या , ये लव इन रिलेशनशिप का ट्रेंड बढ़ने के पीछे नई पीढी की सोच क्या है ? जब इस विषय के गर्भ में जानकारी की गई तो एक बात सामने आई की ये कोई नई परिपाटी नही पहले के समय भी ऐसा होता था केवल इसका नाम अलग था उस समय ऐसी संबंधो को रखेल रखना कहा जाता था। जिसको समाजिक व कानुन की कोई मान्यता नही होती थी । जितने दिन मन किया मौज मस्तियाँ की और फिर नया दरवाजा देखो जिसको समाज बड़ी घर्णिय नजरों से देखता था । आज के समय माता पिता द्वारा संचालित आधुनिकता का दोर जँहा इस तरह के रिश्तो को बढ़ावा दिया जाता हैं और आज की पीढ़ी इनका पुर फ़ायदा उठाने की कोशिश करती हैं ।और वो समाज के पतन का एक बड़ा कारण बनता जा रहा हैं ।। इसमे एक पहलू हैं मकान मालिक जो बिना सही पहचान के किराए के लालच मे इनको पनाह देते है । वेलेंटाइन डे जो की आज के समय प्यार का इजहार करने का एक अच्छा ट्रेंड बन गया हैं। समाज में महिलाओं को एक ऊंचा मुकाम हासिल हैं। उन्हें सदियों से मां,बहन,बेटी v देवी के रूप में देखा जाता हैं लेकिन आज के समय क्या ये बदलाव सही हैं या अनुचित लाभ उठाकर श्रद्धा जैसा अंजाम दिया जाता हैं। ये पुरुष प्रधान देश की सोच हैं या वर्ग विशेष की सोच होगई हैं ये सोचने का विषय हो सकता हैं पर ।शादी से पहले किसी अनजान व्यक्ति से कुछ मुलाकातों के बाद अपना बिस्तर शेयर करने को कोई भी उच्चित नहीं ठहरायेगा। और आज शहरो में इस तरह का ट्रेंड बढ़ते जा रहा हैं। 

जॉब व  पढाई  करने वाली लड़कियां 

जॉब व  पढाई करने  वाली लड़कियां हो इस तरह के ट्रेंड को अपनाने में बिलकुल भी नहीं झिझकती और अपनी सोच को मॉडर्न कह के इसका अनुसरण करती हैं और अधिकाश केस में कुछ समय के बाद ठगी महसूस करती हैं। हमने कभी नहीं सुना की लिव इन रिलेशनशिप में किसी लड़के/पुरुष को कोई दिकत का सामना करना पड़ा हो। क्योंकि उनको एक समय की लिए केयर टेकर के रूप में साथी मिल जाता हैं और जब लड़की मैरिज की बात करती हैं तो वो बहाने बनाते रहते हैं और क्या आपको मेरे pe विश्वास नहीं हैं कह कर उस लूटी हुई जिंदगी को कुछ और समय के लिए धकाते रहते हैं और जब लड़की जिद करती हैं तो या तो उसे अलग कर दिया जाता हैं या संपर्क कट कर दिया जाता हैं या श्रद्धा जैसा हस्र कर दिया जाता हैं। इसके लिए आज के चकाचौंद भी जिमेवार हैं


TV सीरियल हो या आज की फिल्म भी कम जिमेदार नहीं हैं

 जिन्होंने अपनी पुर जोर कोशिश से हमारे समाज को गंदा करने का काम किया हैं। इससे पार पाने का एक ही तरीका हैं की इस तरह की परिपाटी पर कानूनन बैन लगाया जाना चाहिए। और हर माता पिता को इस तरह के संबंधों को बिलकुल भी बढ़ावा नहीं देना चाहिए। प्यार करना कोई गुनाह नहीं हैं पर इस तरह से शारीरिक संबंध स्थापित करना । सामाजिक v पारिवारिक जीवन को नष्ट करने का कारण साबित होते हैं जिसके बिना जीवन के रंग अधूरे होते है। इसलिए एक और हमारा देश आर्थिक विकास की और बढ़ रहा हैं उसके लिए सामाजिक ताने बाने को बनाए रखना भी उतना ही आवश्यक हैं ताकि और कोई श्रद्धा कांड ना हो। इसे मनन करने की बड़ी आवश्यकता हैं।

जॉब व पड़ने वाली लड़किया आसान टारगेट

पुरुष प्रधान मानसिकता वाले देश में अमूमन लड़किया और महिला जो जॉब के लिए या पढाई के लिए घर दूर रहती हैं और ये ऐसी मानसिकता वाले लोगो की आसान शिकार होती हैं , निक्की यादव हत्याकांड में कैसे परिवार और रिश्तेदारो ने साजिस करके हत्या को अंजाम दिया ,लेकिन इन सब को ये मौका किसने दिया यह भी सोचने की आवश्यकता हैं , निक्की की बहन जो साथ में रहती थी उसने भी परिवार से उनके विवाह की बात छुपाई और पढाई की ओढ़ में जीवन के एक नए पहलु को चोरी छुपे कर रही थी और घर में माँ  बाप जिनको २ साल से खबर  तक नहीं होने दिया इसलिए इस तरह की वारदात को रोका नहीं जा सकता इसमें विक्टिम को भी सामाजिक ताने बाने को समझना होगा अन्यथा कितने भी कड़े कानून बन जाये इस तरह के अपराधों को विराम देना बहुत मुश्किल 

1 टिप्पणी:

  1. महिलाओं को इससे संबंधित कानूनों की जानकारी नहीं होने के कारण ऐसी घटनाएं घटित होती हैं||

    जवाब देंहटाएं

If you have any suggestions for betterment.Pls let me know

चुंबकयुक्त उत्पादों के प्रयोग मात्र से गहन बीमारीयां छुमंतर

केवल सोने पानी पीने और हाथ की कलाई पर मैग्नेटिक ब्रासलेट पहनने से रोगों से चमत्कारी मुक्ति की सचाई             चुम्बकीय चिकित्सा हर आयु के न...