गुरुवार, 9 फ़रवरी 2023

मोदी का अभेद किला जनता का सुरक्षा कवच।

 मोदी का सुरक्षा कवच 




कल भारत के प्रधानमंत्री ने संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान विपक्ष को धोबी पछाड़ दिया। पीएम ने विपक्ष पे प्रहार करते हुए  लोकसभा में कहा को १४० करोड़ जनता का भरोसा उनका सबसे बड़ा सुरक्षा कवच हैं।विपक्ष के झूठे आरोप व गालियों के शस्त्र उनके कवच को भेद नहीं सकते।क्योंकि "मुसीबत के समय  मोदी उनके काम आया हैं, इसलिए आपके आरोपी को कोटि कोटि भारतीय से गुजरना पड़ेगा। विपक्ष की और से मंगलवार को राहुल गांधी ने अपने ४५ मिनट के भाषण में तथ्यहीन उद्योगपति गौतम अडानी से मोदी के रिश्तों के बारे में एक तस्वीर दिखा कर मोदी से सवाल किए की वो अपने संबंधो के बारे में जनता को बताए। आप को ज्ञात होगा की २४ जनवरी को अडानी का व्यवसाईक साम्राज्य २१ लाख करोड़ का था जो घट कर १० लाख करोड़ से नीचे आचूका हैं और उसके SBI व LIC का भी पैसा लगा हुआ है।। निश्चित ही भारत जैसे लोकतंत्रिक देश में किसी व्यवसाई पर इतना बड़ा जोखिम लेना जनता के अहित में जा सकता हैं और ये मोनोपॉली को बढ़ावा देने वाला है।लेकिन 

कमजोर विपक्ष 

अपनी बात को सही तरीके से रखने में नाकामयाब रहा।और मोदी ने अडानी व राहुल का नाम लिए बिना ही प्रतिकार किया।साथ ही कहा की विपक्ष मुख्यत राहुल बिना सिर -पैर की बाते करते हैं। ध्यान रहे मंगलवार को राहुल के दिए भाषण को १८ कट के साथ संसद के रिकॉर्ड में रखा गया हैं।क्योंकि संसद की नियमावली के अनुसार संसद के पटल पर कुछ भी बोलने से पहले अपने व्यक्त्व को सत्यापन कराना अनिवार्य होता हैं और राहुल हमेशा की भांति बिना आधार के ही बाते बोल देते हैं इसी के कारण राहुल की छवि एक जोकर नेता के रूप के स्थापित हो चुकी हैं और जनता तो जनता उनके कार्यकर्ता भी उन्हें गंभीरता से नहीं लेते। अन्यथा राजस्थान जैसे राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट प्रकरण इतना लम्बा नही खींचता जिसका खामियाजा जनता को चुकाना पड़ रहा है। साथ ही मोदी ने कहा की विपक्ष २०१४ के बाद से लगातार कह रहा हैं की भारत कितना कमज़ोर हो रहा हैं और अब कह रहे हैं की भारत दूसरे देशों को धमाकाकर फैसले करवाने को मजबूर कर रहा हैं।ये बारे विरोधाभाषी हैं इसलिए विपक्ष पहले यह जाने की भारत कमजोर हुआ हैं या मजबूत हुआ हैं। भारत जोड़ो यात्रा को लेकर भी 

मोदी ने कश्मीर का उधारण 

पेश किया की कैसे उन्होंने उग्रवादियों की धमकी के बावजूद लाल चोक में तिरंग फहराया था और आज विपक्ष सैकड़ों लोगों के साथ १००%सुरक्षा के माहौल में तिरंगा फहराया जा रहा हैं ये बदलाव जनता जनार्दन को समझने के लिए बहुत हैं। मोदी ने विपक्ष से सवाल किए की वो बताए की ८० करोड़ लोग  जिनको अनाज मुफ्त राशन मिलता हैं,११ करोड़ किसान जिनके खाते में एक वर्ष में ३ बात सीधे पैसा जाता हैं, ९ करोड़ लोगो को गैस कनेक्शन फ्री मिले,११करोड़ घरों को शोचलयो की सौगात मिली, ८ करोड़ लोग जिनको नल से जल मिला,२करोड़ लोग जिनको आयुष्मान योजना का फायदा मिला वो लोग विपक्ष पर कैसे भरोसा करेंगे।।ये सही हैं की मोदी ने  गत ९ साल के दलित,आदिवासी, पिछड़े लोगो पर फोकस करके ही काम किए ताकि उनको मुख्य धारा से जोड़ा जा सके और देश की प्रगति का रास्ता साफ हो सके।।मोदी ने जन्हा मोबाइल निर्माण में भारत दुनिया का ३rd देश बन गया है। जिस समय दुनिया covid जैसी महामारी के सबकुछ थम सा गया था ,आधी दुनिया के युद्ध का माहौल बना हुआ है। पड़ोसी देश अपनी जनता को भर पेट खाना भी नहीं खिला पा रहे है वन्ही पे मोदी सरकार ने भारत के मैन्युफैक्चरिंग से लेकर डिफेंस उत्पाद को बढ़ावा दिया हैं,अपनी सेना को समान के साथ सुरक्षा को पुख्ता किया है। १००% रेलवे को विधुतिकरण किया है।रोड नेटवर्क का जाल बिछाया है। मेडिकल कॉलेज से लेकर शिक्षा के लिए हजारों विश्विधालय खुले हैं। खेल के मैदान से लेकर आसमान तक अवसर बने हैं।। योगा को दुनिया के पहचान मिली हैं ।

भारत v भारतीयों का दुनिया के कद बड़ा हैं।। 

भ्रष्टाचार जैसी बिमारी पे नकेल कसी गई हैं, दबंगई का अंत हो रहा हैं। देश का माहौल बदल रहा हैं और दिख भी रहा हैं। यही सब कुछ हैं जो मोदी को आत्मविश्वास से भरता हैं।और हो क्यों नही जिस व्यक्ति ने देश के लिए अपना जीवन खपा दिया उसका उठना बैठना सोना जागना सब कुछ देश हो उसको इस जनता से प्यार और स्नेह हमेशा मिलेगा और विपक्ष इसके किले को आने वाले समय के भेद पाए ये संभावना बहुत ही कम प्रतीत होती है।।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

If you have any suggestions for betterment.Pls let me know

चुंबकयुक्त उत्पादों के प्रयोग मात्र से गहन बीमारीयां छुमंतर

केवल सोने पानी पीने और हाथ की कलाई पर मैग्नेटिक ब्रासलेट पहनने से रोगों से चमत्कारी मुक्ति की सचाई             चुम्बकीय चिकित्सा हर आयु के न...