शुक्रवार, 20 जनवरी 2023

बीबीसी का मोदी पाखंड

                                                              World-The Modi Questions

 


 

     हम सब जानते हैं की BBC (British Broadcast Corporations). ब्रिटेन का बहुत पुराना समाचर प्रसार करने वाली संस्था हैं जिसको पूरी दुनिया में सुनना जाता हैं । इसका हिन्दी भाषी क्षेत्रों मे बीबीसी की हिन्दी सेवा के नाम से भी प्रसारित करता है । बीबीसी ने भारत के लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी पे एक डोकुमेंट्री तैयार की है       

       जिसका नाम है "The Modi Questions" इसकी दो पार्ट मे सिरीज बनाई है । इसका प्रथम पार्ट मंगलवार को जारी किया गया। जिससे विवाद पैदा हो गया है इसमे कथित तोर पे मोदी की भूमिका की बात की गई हैं । विस्तारपूर्वक- गुजरात मे मोदी के मुख्यमंत्री रहते हुये दंगो के बारे मे कहा गया की इनकी मोदी को पहले से पता था ।। 

       इस पर भारत का सर्वोच्य अदालत भी मोदी को क्लीन चिट दे चुकी हैं । क्या है इस डाक्यूमेंट्री में- बीबीसी ने THE MODI QUESTIONS मे मोदी की शुरुवती राजनीतिक सफर पर बाते की है जिसमे उसके भाजपा मे बड़ते कद व रास्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ उसके रिश्तों का भी जिक्र किया गया है तथा मोदी की गुजरात मे रहते हुये दंगो के लिये मोदी की कथित भूमिका की बात कही गई है ।। 

       यह बात निश्चित ही एक बात को सिद्ध करने वाली हैं क्योंकि भारत की जो आर्थिक विकास दर का असर अब दुनिया मे दिखने लगा है । भारत का बढ़ता हुया कद अब देश के बाहर भी पेट मे दर्द पैदा कर रहा है । हमारे लिये ये शुभ समाचर हैं ।। ब्रिटेन संसद मे ऋषि सनक का करारा जबाब- विवाद के बीच ये विषय आज ब्रिटेन की संसद मे भी पाकिस्थान मुल के व लेबर पार्टी के सांसद इमरान हुसैन ने भी इस विषय पर ब्रिटिश संसद का क्या स्टैंड है के बारे मे जानने पर वक्तव्य दिया । 

      जिस पर वँहा के हिन्दू प्रधानमंत्री ने अपने गुस्से को काबू मे रखते हुये दो टुक करारा जबाब दिया की इमरान हुसैन के व बीबीसी की मोदी के चारित्र व चित्रण से कोई भी इत्फाक नही रखता और संसद का स्टैंड कभी भी इस मत के साथ ना था ना हैं ।। ऋषि सुनक के जबाब का का असर ब्रिटिश संसद मे प्रधानमंत्री ऋषि सुनक का जबाब व भारत के विदेश मंत्रालय की कड़ी प्रतिकिर्या के 24 घन्टे मे ही बीबीसी ने इस डॉक्यूमेंट्री को यूट्यूब से हटा दिया है । 

       विदेश मंत्रालय ने साफ किया की ये केवल बीबीसी की घटती लोकप्रियता के कारण सस्ती प्रचार सामग्री है जिसे एक कहानी के रुप मे आगे बढाने की नापाक कोशिश हैं जिसमे निष्पक्षता का अभाव है इसपे ब्रिटिश सांसद लार्ड रामी रेंजर ने भी ट्विट कर बीबीसी को भारत के करोड़ो लोगो की भावनाओ को आहत करने वाला कहा व यूनाइटेड हिन्दू फ़्रंट ने भी करोड़ो भारतीय लोगो के साथ इसकी भर्त्स्ना की है ।। 

     जो नेता आज पुरे दुनिया के हित की बात व काम करता है । यह बात सही है की मोदी को भारत की जनता ही नही दुनिया को चाहने वाले भी अच्छी तरह से समझ चुके है ।कुछेक बचे है उनको जानने के लिये 2029 तक इन्तजार करना ही होगा। ।

Dated -0/01/2029 

    कल जब बीबीसी के लदंन ऑफ़िस के सामने भारत समर्धको ने मोदी documentary का विरोध प्रदर्शन किया तो एक बात अच्छी तरह से साफ हो चुकी हैं की बीबीसी जैसी एजेन्सी को ये सोचना चाहिये की ये नया भारत हैं जो घर मे घुस जाता हैं जब बात आन की होती है ।।  

      हर भारतीय को सोचना चाहिये की  हम देश दुनिया के लिये जी तोड़ मेहनत करने है पर कोई हम पे कीचड़ उछालेगा तो उसे हाथी व दर्जी की कहानी जरुर पढ़ लेनी चाहिये की हम जरूरत पड़ने पर फुल की जगह आक्रोश से भी जबाब दे सकते है ।।
जय भारत

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

If you have any suggestions for betterment.Pls let me know

चुंबकयुक्त उत्पादों के प्रयोग मात्र से गहन बीमारीयां छुमंतर

केवल सोने पानी पीने और हाथ की कलाई पर मैग्नेटिक ब्रासलेट पहनने से रोगों से चमत्कारी मुक्ति की सचाई             चुम्बकीय चिकित्सा हर आयु के न...