रविवार, 29 जनवरी 2023

क्रिकेट मे टाई का नियम

क्रिकेट जँहा अनिश्चितता का खेल माना जाता है वंही पे कई बार रोमांचक की हदे भी पार करता है । जब दोनो टीमें अपनी पारी खेलने के बाद यदि स्कोर बराबर हो जाता है उस परिस्तिथि मे मैच को टाई कहा जाता है । अब चाहे वनडे हो या T20 मैच यह समय रोमांचक मुकाबले मे दर्शको के लिये बहुत ही कसंम कस वाले होते हैं वंही खिलाडियों के लिये रोमांच के साथ बहुत अधिक तनाव पुर्ण होते है । क्रिकेट इतिहास मे 2019 का वर्ल्ड कप फाइनल मैक अपने रोमांच के चरम पर पहुंच गया था जब दोनो टीमों ने 50 ओवर के बाद स्कोर 241 रन के बराबर हो गई थी। टाई होने की स्थति मे एक-एक ओवर का सुपर ओवर और खेला जाता है । जिसमे भी दोनो टीमों ने 15-15 रन का बराबरी का स्कोर किया और मैच का कोई नतीजा नही निकला। अंत मे इंग्लैंड की न्यूज़ीलैण्ड से अधिक बाउंड्रि होने पर इंग्लैंड को विजेता का खिताब मिला जिसको विवादित माना गया और इसके बाद ICC ने आगे के लिये नियमॉ मे बदलाव करते हुये । सुपर ओवर के भी टाई होने पर और सुपर ओवर खेलने का प्रावधान बमाया हैं ।जो की समानता के मौके पर भरोसे योग्य हैं ।। एकदिवसीय क्रिकेट का पहला टाई मैच 1984 मे ऑस्ट्रेलिया व वैस्टइंडीज के बीच खेला गया था जब दोनो टीमों ने 247 का स्कोर किया था भारत भी अभी तक सात बार ODI मे टाई मैच खेल चुका है जिसमे पहला व अन्तिम दोनो मैच वैस्टइंडीज के साथ खेले गये थे।

2 टिप्‍पणियां:

If you have any suggestions for betterment.Pls let me know

चुंबकयुक्त उत्पादों के प्रयोग मात्र से गहन बीमारीयां छुमंतर

केवल सोने पानी पीने और हाथ की कलाई पर मैग्नेटिक ब्रासलेट पहनने से रोगों से चमत्कारी मुक्ति की सचाई             चुम्बकीय चिकित्सा हर आयु के न...